Google क्या है, और इसका मालिक कौन है?

2
Google Kya Hai in Hindi

गूगल के बारे में तो सभी लोग जानते है, क्या आपको पता है Google क्या है? अगर नहीं तो आज के इस लेख में हम जानेंगे गूगल क्या होता है? इससे जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियां। जिसमे हम जानेंगे गूगल के मालिक का नाम क्या है, गूगल किसने बनाया। अगर आप गूगल से यह जानना चाहते है, गूगल मेरा नाम क्या है तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े जिसमे हमने Step by Step पूरा बताया हुआ है। अभी हम जानेंगे गूगल क्या है? इसके बारे में।

अगर हम आज से कुछ समय पहले की बात करें, जब Internet शुरू हुआ था, तो उस समय इंटरनेट पर इतनी ज्यादा Information मौजूद नहीं थी। लोगो को कोई भी जानकारी ढूंढ़ने के लिए किताबो की मदद लेनी पड़ती थी। हालाकिं उस समय इंटरनेट पर बहुत सारी वेबसाइट भी मौजूद थी, लेकिन यह जानना बहुत मुश्किल था, की कौन सी वेबसाइट पर सही जानकारी मौजूद है। इन सभी समस्याओं को देखते हुए एक व्यक्ति ने Google का आविष्कार किया। तो आइये सबसे पहले जानते है, की Google क्या है? इसके बाद जानेंगे, गूगल का अविष्कार किसने किया और इसका मालिक कौन है –

गूगल क्या है | What is Google in Hindi

गूगल एक मल्टीनेशनल कंपनी है, जिसका मुख्यालय गूगलप्लेक्स, माउंटेन व्यू, कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका में स्तिथ है। यह Search Engine के अलावा और भी कई सेवाएं उपलब्ध करवाती है, जिनमे Cloud Computing, Advertisement, Google Drive, Maps, और Internet Analytics आदि शामिल है। गूगल सबसे ज्यादा कमाई AdWords से करता है। गूगल दुनिया की सबसे बड़ी पांच कंपनियों Apple, Amazon, Facebook and Microsoft में से एक माना जाता है।

गूगल ने अपने कई Information Technology उत्पाद के अलावा 2016 में अपना Mobile भी लॉन्च किया था। इस मोबाइल का नाम Google Pixel था, जो की लॉन्च होने के बाद मार्किट में तुरंत ही अपनी पहचान बना बैठा था। इसके अलावा गूगल के और भी कई महत्वपूर्ण प्रोडक्ट है, जिनके बारे में हम आपको निचे के लेख में बताएँगे। अगर हम Google की एक दिन की कमाई की बात करें, तो यह सिर्फ Google AdWords से $121 Million Per Day कमाती है। अगर हम इन्हे भारतीय रुपयों में Convert करते है, तो गूगल की एक दिन की कमाई 9,22,78,89,550.00 रूपये है।

गूगल कैसे काम करता है (How Google Works In Hindi)

Google सभी कार्य अपने Algorithm के अनुसार करता है। गूगल अपने Content को महत्वपूर्ण बनाने के लिए अपने Algorithm को समय समय पर Update करता रहता है। गूगल के Crawler इंटरनेट पर मौजूद जानकारी को गूगल के Database में Index करते है। जब भी कोई User गूगल पर कुछ सर्च करता है, तो Google में Index Website यूजर को उसके द्वारा की गयी क्वारी के अनुसार उसके सामने रिजल्ट दिखा देता है।

उदहारण के लिए आपको बताते है, की गूगल किस तरह से कार्य करता है – जब भी कोई गूगल के ऊपर अपनी वेबसाइट बनता है, तो सबसे उसे Crawl करना होता है, Crawl होने के बाद गूगल में वेबसाइट Index हो जाती है, इसके बाद उस वेबसाइट के अंदर मौजूद जानकारी Google में Show होने लगती है।

अभी आपके मन में एक सवाल चल रहा होगा, की गूगल पर एक ही जानकारी के बहुत सारे पेज और वेबसाइट होती है, फिर गूगल First Page पर कुछ वेबसाइट को कैसे दिखता है। गूगल अपने First Page पर उन्ही वेबसाइट को दिखता है, जिसमे अच्छी गुणवत्ता वाला Content होता है, और उस वेबसाइट की Authority अच्छी होती है। इसके अलावा गूगल के 200 Ranking Factor है, जिनके आधार पर Google में Website को Rank कराया जा सकता है।

Google का पूरा नाम क्या है?

Google का पूरा नाम “Global Organization of Oriented Group Language of Earth” है। गूगल का हिंदी में पूरा नाम “पृथ्वी की ओरिएंटेड ग्रुप लैंग्वेज का वैश्विक संगठन” है।

गूगल का नाम गूगल कैसे पड़ा

कई लोग Google Assistant से एक सवाल बार बार पूछते है, गूगल तुम्हारा नाम गूगल कैसे पड़ा। तो आपको बता दें, की इसका नाम गूगल के मालिक ने सबसे पहले गोगोल रखा था, जिसकी स्पेलिंग Googol थी। लेकिन यह एक गलती की वजह से Google बन गया। और इस गलती को ठीक नहीं किया गया, और गोगोल को गूगल का नाम दे दिया गया।

गूगल का मालिक कौन है?

गूगल कम्पनी के मालिक Larry Page, और Sergey Brin है। जिन्होंने गूगल को बनाया है।

गूगल के सीईओ कौन है?

गूगल के वर्तमान सीईओ Sundar Pichai है, जिन्हे 2 October 2015 को गूगल का सीईओ बनाया गया था, Sundar Pichai एक भारतीय नागरिक है।

गूगल किस देश की कंपनी है?

गूगल संयुक्त राज्य अमेरिका की कंपनी है, जिसके फाउंडर लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन ने मिलकर गूगल की स्थापना की है। गूगल कम्पनी की शुरुआत Susan Wojcicki’s Garage in Menlo Park, California में एक प्राइवेट कंपनी के रूप में हुई थी। वर्तमान में यह दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है। हालाकिं गूगल का मुख्यालय सयुंक्त राज्य अमेरिका में स्तिथ है, और यह संयुक्त राज्य अमेरिका की कंपनी है। लेकिन इसकी शाखा कई और देशो में भी मौजूद है।

गूगल के सभी प्रोडक्ट के नाम और जानकारी (Google All Products Name List)

गूगल ने बहुत सारे ऐसे प्रोडक्ट बनाये जो की आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। गूगल ने अपने सभी प्रोडक्ट को Group में विभाजित किया है, उदहारण के लिए अगर हमें किसी जगह की Location के बारे में जानना है, तो हमें गूगल के Map Product की आवश्यकता पड़ेगी, तो Google Map के अंतर्गत भी कई Product आते है, जिनके बारे में हम आपको निचे बताएँगे। अभी आपको बता दें की गूगल के सभी प्रोडक्ट इन ग्रुप के अंतर्गत आते है, जो की इस प्रकार है – जिनमे Search Tools, Advertising Services, Groupings of Articles, Communication and Publishing, Productivity Tools, Map Products, Statistical Tools शामिल है। अब जानते है, इन ग्रुप के अंतर्गत गूगल के कौन कौन से Product आते है।

Google Search Tools

Google Search – गूगल सर्च गूगल के द्वारा प्रदान किये जाने वाला एक सर्च इंजन है। हालाकिं कुछ लोग गूगल को सर्च इंजन के नाम से ही जानते है। लेकिन आपको बता दे, की गूगल सर्च एक टूल है। गूगल सर्च पूरी दुनिया में 92% उपयोग किया जाता है, और यह सबसे ज्यादा देखे जाने वाली वेबसाइट है।

Google Assistant – गूगल असिस्टेंट गूगल का एक Artificial Intelligence द्वारा तैयार किया गया टूल है, जो की आपके मोबाइल और घर के तकनिकी उपकरणों को चलने में सहायक होता है। आप इसकी मदद से मोबाइल में बिना कुछ टाइप किये सीधे अपनी Voice से कुछ भी सर्च कर सकते है। इसी तरह से आप Google Assistant की मदद से आप घर के उपकरणों को भी अपनी Voice से कण्ट्रोल कर सकते है।

Google Alerts – गूगल अलर्ट्स Google के द्वारा प्रदान की जाने वाली एक ऐसी सुविधा है, जो Change Detection and Notification का पता लगाती है। इसके अंतर्गत आपको यह नए Result मिलने पर आपको Email भेजती है, जैसे की आप कोई ब्लॉग प्रति दिन पढ़ते है, तो उससे सम्बंधित कोई भी अच्छा लेख गूगल पर प्रकाशित होता है, तो यह आपको उसका Alerts भेज देती है। गूगल ने इससे 2003 में लॉन्च किया था।

Google Dataset Search – Google Dataset Search गूगल का एक ऐसा Tool है, जिसकी मदद से आप किसी भी Product में क्या परिवर्तन हुए है, उसका पता आसानी से लगा सकते है। उदहारण के लिए – अगर आप Google Dataset Search की वेबसाइट पर जाकर आप Uttarakhand लिखते है, और इसके सर्च करते है, तो यहाँ पर आपको इससे जुड़े बहुत सारे Topic मिल जाते है। अगर आप यहाँ से मान लीजिये Agriculture को चुनते है, तो यहाँ पर आपको उत्तराखंड की कृषि में क्या क्या परिवर्तन हुए है, इससे सम्बंधित पूरी जानकारी मिल जायेगी। गूगल ने यह टूल 5 सितंबर, 2018 को लॉन्च किया था। इसे मुख्य रूप से पत्रकारों और वैज्ञानिको को ध्यान में रखते हुए बनाया गया था।

Google Travel – यह गूगल के द्वारा प्रदान कराई जाने वाली एक ऐसी सुविधा है, जिसकी मदद से आप अपने किसी भी Trip की योजना आसानी से बना सकते है। Google Travel को शुरुआत में 19 सितंबर, 2016 को एंड्रॉइड और आईओएस के लिए लॉन्च किया था, लेकिन 5 अगस्त, 2019 को इसे बंद कर दिया गया था। और इसके बाद इसे Website में बदला गया। आप इसकी मदद से Hotel Flights और जिस जगह पर आप घूमने जा रहे है, वहां की Attraction के बारे में भी जान सकते है।

Google Images – यह Images सर्च इंजन है, जहाँ पर आप कोई भी फोटो को अपलोड करके उसके जैसी फोटो ढूंढ सकते है। इसे गूगल ने Jennifer Lopez के द्वारा पहनी गयी एक हरे रंग की वर्साचे पोशाक की तस्वीरों की मांग के कारण 12 जुलाई 2001 को लॉन्च किया था।

Google Shopping – गूगल शॉपिंग प्रोडक्ट को सर्च करने के लिए बनाया गया है। जो की आपको एक ही जगह पर सभी वेबसाइट के Price दिखा देता है। अगर आपको मान लीजिये एक IPhone चाहिए, तो आप Google Shopping में जाकर IPHONE सर्च करते है, तो आपको सभी ऑनलाइन वेबसाइट के प्राइस दिखाई दे जाते है, जहाँ से आप आसानी से किसी भी वेबसाइट से अपने Apple Iphone को खरीद सकते है।

Google Flights – आप इसकी ममद से Online Flights Book कर सकते है। इसके अलावा आप यहाँ पर Flights चेक भी कर सकते है। Google Flights आपको Third Party द्वारा Flight Booking का विकल्प प्रदान करता है।

Google Advertising Services

Google Ads – Google Ads को पहले Google AdWords के नाम से जाना जाता था। यह गूगल का एक Online Advertising Platform है। जहाँ पर Advertisers अपने विज्ञापन के लिए बोली लागते है, यह Video, Display और Web Advertising करता है। इसके अलावा Google Ads के द्वारा आप Application के लिए भी Ads चला सकते है। इसकी सभी सेवाएं PPC (Pay Per Click) के मॉडल पर आधारित है।

AdMob – AdMob एक Mobile Advertising Company है। इस कंपनी को उमर हमौई ने बनाया है।

Google AdSense – Google AdSense के बारे में Blogger तो सभी जानते है, Google AdSense क्या है। यह गूगल के द्वारा चलाये जाने वाला एक प्रोग्राम है। जिसे Content साइटों पर चलाया जाता है। गूगल इन वेबसाइट पर Advertiser के विज्ञापन देता है, जो की Text, Video, Image आदि में होते है। Google जिस वेबसाइट पर विज्ञापन चलता है, उसका कुछ हिस्सा वेबसाइट Owner को भी देता है।

Google Marketing Platform – Google Marketing Platform गूगल के द्वारा बनाया गया एक Advance Online विज्ञापन Analysis Platform है। जिसे गूगल के द्वारा 24 जुलाई, 2018 में लॉन्च किया गया था। यह टूल DoubleClick और Google की विज्ञापन सेवाओं की Analysis Services को इक्कठा करता है। Google Marketing Platform आमतौर पर बड़े Advertisers जो की इंटरनेट पर विज्ञापन खरदते है, उनके लिए उपयोग किया जाता है।

Communication and Publishing Tools

Blogger – ब्लॉगर American Online Content Management System है, जो की गूगल का ही प्रोडक्ट है, इसे “Pyra Labs” ने बनाया था, लेकिन 2003 में इसे गूगल द्वारा अधिकृत कर लिया गया। अगर आप Blogger पर कोई भी Free Blog बनाते है, तो यह आपके ब्लॉग को blogspot.com के Subdomain के साथ बनाता है। आप ब्लॉगर कस्टम Domain भी Add कर सकते है। एक उपयोगकर्ता गूगल पर ज्यादा से ज्यादा 100 ब्लॉग या वेबसाइट बना सकता है।

Google Chat – गूगल चैट गूगल के द्वारा बनाया गया है, Communication Software है। Google Chat का उपयोग शुरुआत में Business और Team के लिए बनाया गया गया था। लेकिन बाद में इसे सभी के लिए उपलब्ध करा दिया गया था। इसे आप अपने Mobile में App के जरिये भी उपयोग कर सकते है। इसके अलावा आप Gmail की वेबसाइट के द्वारा भी Access कर सकते है।

Google Classroom – यह गूगल के द्वारा बनाया गया एक ऐसा सॉफ्टवेयर है, जो की सभी Educational Institutions के लिए Free Blended Learning Platform है। जिसका उद्देश्य शिक्षकों और छात्रों के बिच फाइलों को साझा करना है, आप इसके द्वारा बहुत ही आसानी से फाइल शेयर कर सकते है।

Google Duo – Google Duo गूगल के द्वारा बनाया गया, एक Video Chat Mobile App है। यह App आपको Android और iOS दोनों तरह के Operating System में चलता है। इसके अलावा आप इसे लेपटॉप और कंप्यूटर में वेब ब्राउज़र की मदद से उपयोग कर सकते है। इसका सबसे अच्छा फायदा यह है, की Google Duo आपको High Definition में Video Call करने की सुविधा प्रदान करता है।

Google Fonts – गूगल फॉन्ट को पहले Google Web Font के नाम से जाना जाता था। यह गूगल के द्वारा प्रदान की जाने वाली एक सुविधा है। यहाँ पर आपको बहुत सारे फॉन्ट मिल जाते है। जिनका उपयोग आप कई तरह से कर सकते है। अगर आप एक Web Developer है, तो आप आपको यहाँ पर सभी Fonts की API मिल जाती है, जिसके उपयोग से आप किसी भी फॉन्ट को वेबसाइट में भी उपयोग कर सकते है।

Google Meet – गूगल मीट को पहले Hangout के नाम से जाना जाता था, यह गूगल के द्वारा प्रदान की जाने वाली एक Video Communication Service है।

Google Voice – Google Voice एक प्रकार की टेलीफोन Service है, जो की फ़्रांस, नीदरलैंड, पुर्तगाल, कनाडा, डेनमार्क, और यू.एस के ग्राहकों को यू.एस Phone Number प्रदान करती है। इसके अलावा यह स्विट्जरलैंड, यूनाइटेड किंगडम, और स्वीडन में कॉल फॉरवार्डिंग के लिए उपयोग की जाती है।

Productivity Tools

Gmail – Gmail Google के द्वारा प्रदान की जाने वाली एक Free Service है। आप इसका उपयोग Web Browser या App के माध्यम से कर सकते है। यह Google POP (Post Office Protocol) और (IMAP) Internet Message Access Protocol के माध्यम से Email क्लाइंट के उपयोग का समर्थन करता है। अगर आपको Gmail के बारे में पूरी जानकारी चाहिए, तो आप यह लेख Email Address क्या होता है पूरा पढ़ें, जिसमे आपको Email Address से सम्बंधित सभी जानकारियां विस्तार से बताई गयी है।

Google Calendar – गूगल कैलेंडर गूगल के द्वारा लॉन्च की गयी एक Time Management and Scheduling Calendar Service है। इसे 13 अप्रैल, 2006 बीटा वर्शन में लॉन्च किया गया था, और जुलाई 2009 में इसे सामान्य तोर पर लॉन्च कर दिया गया था। आप Google Calendar को Android और iOS दोनों तरह के ऑपरेटिंग सिस्टम में उपयोग कर सकते है। यह आपको कई तरह के Advance Features प्रदान करता है, आप यहाँ पर Scheduling कर सकते है, Event का Reminder भी लगा सकते है। इसके अलावा आप सभी Festival की लिस्ट भी देख सकते है।

Google Domains – यहाँ से आप किसी भी तरह के Domains को Buy कर सकते है। Google Domains गूगल के द्वारा प्रदान की गयी एक Domains Name Registrar सुविधा है। यह DNS Hosting, Dynamic DNS, Domain Forwarding, and Email Forwarding भी प्रदान करते है। Google Domains एक क्लिक में DNS Configuration की सुविधा प्रदान करता है, आप अगर Blogger पर अपनी वेबसाइट बनाते है, तो आप गूगल डोमेन के द्वारा अपना डोमेन खरीद सकते है, यह एक क्लिक में आपके डोमेन के DNS को Configuration कर देता है। इसके अलावा यह Wix.com, Weebly, Bluehost, और Shopify के साथ भी जुड़ा हुआ है।

Google Docs – Google Docs एक गूगल के द्वारा प्रदान की जाने वाली Service है, यह एक Online Word Processor है। इसके अंदर Google Sheet, Google Slides, Google Forms और Google Sites भी शामिल है। आप इसका उपयोग Chrome Web Browser मैं कर सकते है। अगर आप इसका उपयोग मोबाइल मैं करना चाहते है, तो इसके लिए आप गूगल Play Store से डाउनलोड कर सकते है, साथ ही यह iOS पर भी मौजूद है।

Google Sites – आप गूगल Sites की मदद से Free में अपना Web Page बना सकते है। Google Sites सिर्फ Web Browser पर ही काम करता है, इसकी कोई भी App नहीं है।

Google Drive – Google Drive को गूगल के द्वारा 24 अप्रैल, 2012 को लॉन्च किया गया था। यह एक File Storage सेवा है। Google Drive अपने यूजर को उनका सभी डाटा Google Cloud में Store करने का Free विकल्प प्रदान करती है। इसमें आप 16GB तक Free Data स्टोर कर सकते है। यह आपको iOS, Android, Microsoft में अपनी App प्रदान करता है।

Google Translate – Google Translate एक Multilingual Neural Machine Translation सर्विस है। जिसे गूगल ने एक भाषा से दूसरी भाषा से दूसरी भाषा में Document Website Content आदि को Translate करने के लिए बनाया है। गूगल ट्रांसलेट वेबसाइट एंड्राइड और iOS के लिए एक App और API भी प्रदान करता है। API का उपयोग डेवलेपर वेबसाइट, एप्लीकेशन, और एक्सटेशन बनाने में Use करते है। गूगल ट्रांसलेट के अंदर 109 भाषाओँ को आप Translate कर सकते है। गूगल का कहना है, की 2013 के आंकड़ों के अनुसार Google Translate का उपयोग प्रतिदिन 200 मिलियन से अधिक लोग करते है।

Developer Tools

Accelerated Mobile Pages – Accelerated Mobile Pages को AMP भी कहते है। यह एक प्रकार का HTML फ्रेमवर्क है। गूगल ने AMP को फेसबुक इंस्टेंट आर्टिकल्स और एप्पल न्यूज के Competitor के रूप में बनाया था। AMP मोबाइल पेज को बहुत जल्दी लोड करने की अनुमति देता है। अगर किसी वेबसाइट में AMP है, तो उसकी स्पीड Mobile में बहुत अच्छी आती है।

Google App Engine – Google App Engine को GAE के रूप में भी जाना जाता है। यह Google के द्वारा Managed Data Centers को Host करने के लिए एक Cloud Computing प्लेटफार्म है। Applications को Sandbox करके कई Server पर चलाया जाता है। अगर कइलसि App पर Request बढ़ती है, तो यह Automatic Web Application को स्वचालित रूप से अलग अलग सर्वर में विभाजित कर देता है, जिससे की App की Speed अच्छी रहती है।

Google PageSpeed Tools – गूगल पेजस्पीड Google Inc का ही एक Tool है। जिसे Website के Performance को Optimize करने के लिए बनाया गया था। इसे गूगल ने 2010 में डेवलपर सम्मेलन में लॉन्च किया था।

Google Search Console – Google Search Console को 20 मई 2015 तक Google Webmaster Tools के नाम से जाना जाता था। यह एक Web Service है, जो की आपको आपकी Website की पूरी Details प्रदान करता है। इसके अंतर्गत आप अपने सभी Keyword की Position के अलावा और भी बहुत कुछ देख सकते है।

Google Analytics – Google Analytics गूगल के द्वारा प्रदान की जाने वाली एक Web Analytics Service है, जो की आपकी वेबसाइट के ट्रैफिक को ट्रैक करती है। आप गूगल एनालिटिक्स की ममद से अपनी वेबसाइट के Traffic को ट्रैक कर सकते है, अगर आप अपनी वेबसाइट पर PPC भी चलते है, तो भी Google Analytics आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। आप इसे Web Browser के अलावा iOS और Android App में भी Use कर सकते है।

Google Trends – Google Trends गूगल के एक वेबसाइट है, जो की अलग अलग क्षेत्रो और भाषाओँ में गूगल Search Queries की Trending बताती है। अगर आपको अपने ब्लॉग के लिए कोई Article लिखना है, तो आप अपने Keyword को पहले Google Trends में डालकर उसकी पॉपुलरटी के बारे में जान सकते है।

गूगल का इतिहास | History of Google in Hindi

गूगल की शुरुआत एक Research Project के दौरान 1996 में लैरी पेज तथा सर्गेई ब्रिन द्वारा की गयी थी। उस समय लैरी पेज तथा सर्गेई ब्रिन अपनी PHD की पढाई Sergi Stanford University, California में कर रहे है, उस समय यह दोनों एक छात्र थे। उन्होंने एक ऐसी वेबसाइट बनने के बारे में सोचा जो की वह एक ऐसे Search Engine को बनाते है, जो की यूजर को Content से सम्बंधित सटीक जानकारी प्रदान कराएं। इन्होने अपनी इस नई तकनीक को उस समय “PageRank” का नाम दिया था। जिसे आज हम Google के नाम से जानते है, हालाकिं Google का नाम Googol था, लेकिन यह एक गलती की वजह से Google हो गया था।

और इसमें फिर कोई सुधार नहीं किया गया, और आज इसे गूगल के नाम से ही जाना जाता है। अगर हम बात करें Googole की तो इसका मतलब होता है, 1 के बाद 100 शून्य। आपको बता दें, की Google ने अपना पहला Doodle 1998 में बनाया था, और आज Google के पास 2000 से भी ज्यादा Doodle Homepage है। इसके अलावा आज Google Doodle की एक अलग Team है, जो की किसी व्यक्ति विशेष, या किसी त्यौहार के दिन गूगल के डूडल बदलती रहती है।

कुछ समय बाद ही गूगल ने सन 2000 में अपनी एक Service लॉन्च की थी, जिसका नाम Google AdWords है, जिसका उपयोग Online Advertisement के लिए किया जाता है। आज के समय गूगल दुनिया की सबसे बड़ी विज्ञापन कम्पनी है। यह आपको Text Ads, Mobile Ads, Videos Ads, और Display Ads की सुविधा प्रदान करती है। जिसकी मदद से आप अपने Business को Online प्रमोट कर सकते है। इसे हम Internet Marketing भी कहते है।

गूगल ने अपनी सफलता के बाद सन 2004 में Gmail को लॉन्च किया था, जिसका उपयोग आज के समय में सभी लोग करते है। Gmail Data Store करने के लिए एक अच्छी सुविधा है, हालाकिं शुरुआत में गूगल ने इसमें बहुत कम Storage दी थी, लेकिन वर्तमान में आपको Gmail में बहुत ज्यादा Storage देखने को मिलती है। इसके बाद 2005 में गूगल ने गूगल मैप को लॉन्च किया था, आप गूगल मैप की मदद से घर बिकते किसी भी देश में किसी भी जगह का 360 Degree View देख सकते है। इसके अलावा आप इसकी मदद से किसी भी जगह की लोकेशन का पता कर सकते है।

गूगल ने 2006 में YouTube को भी खरीद लिया था, यूट्यूब एक वीडियो शेयरिंग वेबसाइट है, जहाँ पर आप वीडियो को शेयर कर सकते है। इसके बाद गूगल ने 2007 में अपना Android सिस्टम लॉन्च किया था, हालाकिं यह गूगल ने ख़रीदा था। अभी के समय में अगर हम बात करें, तो Android मोबाइल के लिए सबसे अच्छा Operating System माना जाता है। पहले हम कई अलग अलग वेब ब्राउज़र का उपयोग करते थे। इसी समस्यां को देखते हुए गूगल ने 2008 में अपना खुद का वेब ब्राउज़र लॉन्च किया था, जिसे हम Chrome Browser के नाम से जानते है।

Gooogle पैसे कैसे कमाता है?

आप सभी जानते है, की Google अपनी सबसे ज्यादा Service Free में उपलब्ध करवाता है, चाहे वह आपकी Gmail हो या फिर Google Drive में मिलने वाला Storage सभी चीजे गूगल की आप Free में उपयोग कर सकते है। लेकिन बहुत से लोगो के मन में एक सवाल आता है, की गूगल पैसे कैसे कमाता है। क्योकिं यह सभी Service तो अपने यूजर को ज्यादातर Free में Provide करवाता है, इसके बाबजूद भी यह दुनिया की Number 1 कंपनियों में से एक है। आपको बता दें, की गूगल अपनी 96% कमाई Advertisement से करता है।

जब भी हम गूगल में कुछ सर्च करके किसी वेबसाइट पर जाते है, तो हमें वहां पर कुछ Ads नजर आते है, आपको बता दें, की पूरी दुनिया में 70% Ads वेबसाइट पर गूगल के द्वारा ही चलाये जाते है। क्योकिं गूगल दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है। इसमें प्रतिदिन 1 Billion से भी ज्यादा की सर्च की जाती है। गूगल के द्वारा अगर आप अपने बिज़नेस को Promote करते है, तो यहाँ से आप अच्छी खासी Business Lead भी कन्वर्ट कर लेते है।

यह एक यूजर की इंटरनेट पर होने वाली सभी Activity को Track करता है। आपने देखा होगा, जब भी आप अगर इंटरनेट पर किसी Mobile के बारे में सर्च करते है, तो आपके सामने गूगल सिर्फ मोबाइल के ही विज्ञापन दिखता है। फिर चाहे आप किसी भी वेबसाइट पर क्यों ना जाएँ, आपको सिर्फ मोबाइल की ही Ads नजर आएगी। ऐसा इसलिए होता है, क्योकिं आप एक मोबाइल मैं इंट्रेस्टेड है, और बहुत ज्यादा चांस है, की आप उस Advertisement के जरिये मोबाइल खरीद सकते है।

आपको बता दें, की Online Advertisement के लिए इंटरनेट पर और भी बहुत सारे प्लेटफार्म है, लेकिन ज्यादातर कंपनियां गूगल AdsWord को ही क्यों चुनती है, तो आइये जानते है –

Google Ads (AdWords)

गूगल AdWords गूगल की एक Online Advertising Service है। जो की PPC (Pay Per Click) के मॉडल पर कार्य करता है। जब आप अपने Advertising Campaign को Setup करते है, तो यहाँ पर आपको अपने Advertising Campaign के हिसाब से बोली लगानी होती है। मान लीजिये आप iPhone Price in India इस कीवर्ड पर अपना एक Advertising Campaign बनाते है, तो आपको इस कीवर्ड पर एक बोली लगानी होती है, मान लीजिये आपने 3 रूपये की Bid लगायी, तो जब भी कोई गूगल पर iPhone Price in India सर्च करता है, तो आपकी Ads गूगल में दिखाई देगी, कोई भी यूजर जब उस पर क्लिक करके आपके प्रोडक्ट को देखता है, उसके बाद ही आपके पैसे काटते है।

Google AdSense

Google AdSense गूगल का एक Monetization प्रोग्राम है, जो की AdsWords पर चलाये गए विज्ञापनों को Publisher की वेबसाइट या Blog पर दिखता है। जितनी Ads भी किसी Publisher की वेबसाइट पर दिखाई देती है, उसका कुछ हिस्सा गूगल रखता है, और कुछ हिस्सा वेबसाइट के Owner को देता है। इसमें गूगल 55% हिस्सा रखता है, और 45% हिस्सा Publisher को देता है। यह सारे पैसे गूगल Cost Per Thousand Impression के हिसाब से एडवरटाइजर से लेता है।

Note – इस लेख में आपको Google क्या है (What is Google in Hindi) इसके बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारियां दी गयी है। जिसमे आपको गूगल का इतिहास, गूगल का मतलब क्या होता है, और भी कई महत्वपूर्ण जानकारियां आपको इस लेख में दी गयी है। अगर आपका इस लेख से सम्बंधित कोई भी सवाल है, तो आप हमें कमेंट करके बता सकते है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा, तो कृपया इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें, धन्यवाद।

2 COMMENTS

  1. बहुत बहुत आभारी हु आपका की आपने अच्छे पोस्ट लिखे है | मैं आपको बहुत फॉलो करता हु | कृपया इस पर भी पोस्ट लिखे की YouTube से पैसे कैसे कमाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here