Cryptocurrency क्या है? यह कैसे काम करती है?

0
Cryptocurrency Kya Hai Hindi Mein

क्या आप Cryptocurrency क्या है? इसके बारे में जानते है। अगर नहीं तो आज हम Cryptocurrency क्या होती है, इसी के बारे में जानने वाले है। दुनिया में कई तरह की मुद्रा (Currency) होती है, जिसके द्वारा हम लेन-देन करते है। हम जब बह कोई वास्तु खरीदते है, तो हम उसके बदले में दूकानदार कोई पैसे देते है, जो की एक प्रकार की मुद्रा होती है। दुनिया में अलग अलग देशो में अलग अलग मुद्रा (Currency) का उपयोग किया जाता है। हालाकिं के आज के समय में सभी चीजे ऑनलाइन हो चुकी है, तो ऐसे में हम Currency का लेन – देन Online कर देते है।

अगर आप भारत में रहते है, तो आप ऑनलाइन रूपये का लेन-देन करते है। लेकिन एक Currency ऐसी भी है, जो की पूरी तरह से Digital Currency है। इस मुद्रा (Currency) को हम Cryptocurrency के नाम से जानते है। आज हम इस लेख में क्रिप्टोकरेंसी क्या है, और इसे कैसे खरीदते है, क्रिप्टोकरेंसी के फायदे क्या है, और इससे जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में इस लेख में जानेगे। तो आइये सबसे पहले हम जानते है, What is Cryptocurrency

Cryptocurrency (क्रिप्टोकरेंसी)

जैसा की आपको ऊपर बताया गया है, की प्रतियेक देश की अपनी एक Currency होती है। जैसे की अमेरिका के पास Dollar है, कुवैत के पास दीनार है, और अरब में रियाल है, और भारत में रुपया है। हालाकिं सभी लोगो को पता है, की करेंसी क्या होती है, लेकिन आपको बता दे, की Currency (मुद्रा) देश से मान्यता प्राप्त मुद्रा होती है। यह देश मन कार्य करने वाले नागरिको को धान के रूप में मिलती है। हम जिस जगह भी नौकरी करते है, वहां पर हमें बदले में Currency (मुद्रा) दी जाती है। हम करेंसी के बदले में किसी भी वास्तु को खरीद सकते है।

लेकिन आपको बता दे, की जो करेंसी सरकार द्वारा निरस्त कर दी जाती है, फिर उसकी कोई भी Value नहीं होती है। जैसे की भारत सरकार द्वारा पुराने 1000 और 500 के नोट को निरस्त कर दिया है, अब अगर आप इनमे से किसी भी नोट को कही लेकर जाते है, और इससे कुछ चीज खरीदते है, तो इसके बदले में आपको कुछ भी नहीं मिलेगा। वही अगर आप 100 के नोट से कुछ खरीदते है, तो आपको मिल जाएगा, क्योकिं 100 रूपये का नोट सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त है।

किसी भी देश की Currency कागज़ और धातु के टुकड़ो पर छापी जाती है। इस करेंसी को हम अपने हाथो से छू सकते है। साथ ही हम इसे अपने पर्स में भी रख सकते है, और इसे अपने साथ भी ले जा सकते है। तो यह एक प्रकार की Physical Currency है। लेकिन अगर हम Cryptocurrency की बात करें, तो यह एक प्रकार की Digital Currency है, इसे हम कभी भी छू नहीं सकते है। यह सिर्फ Internet की दुनिया में ही रहती है, और इसका सारा लेन-देन डिजिटल रूप से ही होता है।

Cryptocurrency क्या है? (What is Cryptocurrency in Hindi)

Cryptocurrency एक प्रकार की Virtual Currency है, यह किसी भी देश की सरकार के अंतर्गत नहीं आती है। क्रिप्टोकरेंसी पूरी तरह से एक स्वतंत्र Digital Currency है। जिसका उपयोग डिजिटल रूप से किया जाता है। इसके लेन – देन के Verification के लिए Digital Signature का उपयोग किया जाता है, यह सारी जानकारी Cryptography की मदद से Save होती है। यह Peer to Peer Electronic System पर आधारित है, जो की Internet द्वारा Computer Algorithm पर बनी हुई है।

क्रिप्टोकरेंसी का कोई भी अस्तित्व नहीं है, जिस तरह से हम सामान्य मुद्रा (Currency) को छू सकते है, इस तरह से हम क्रिप्टोकरेंसी को नहीं छू सकते है, यह पूरी तरह से Virtual Currency है। इसका उपयोग ऑनलाइन वास्तु खरीदने और बेचने में किया जाता है। दुनिया की सबसे पहली Cryptocurrency का नाम Bitcoin है, जिसे सन 2009 में सातोशी नाकामोटो ने प्रस्तावित और विकसित किया था। हालाकिं शुरुआत में Bitcoin को कोई नहीं जानता था, लेकिन आज समय में एक Bitcoin की कीमत 23,28,285 भारतीय रूपये है।

Cryptocurrency Meaning in Hindi

क्रिप्टोकरेंसी का मतलब क्या है (Cryptocurrency Meaning in Hindi) Cryptocurrency एक प्रकार की Virtual या Digital Currency है, जिसका कोई भी भौतिक रूप नहीं है। इसे हम भारतीय रुपयों की तरह छू नहीं सकते है, क्योकिं यह किसी भी तरह के कागज पर या धातु पर नहीं छापी जाती है। Cryptocurrency पूरी तरह से Computer Algorithm द्वारा बनी हुई मुद्रा है। यहाँ से होने वाली सभी Transaction क्रिप्टोग्राफ़ी की मदद से होती है। क्रिप्टोकरेंसी किसी भी सरकार के अंतर्गत नहीं आती है, और ना ही इसका कोई मालिक है। क्रिप्टोकरेंसी को भारतीय रुपयों की तरह किसी भी तरह की कोई सरकार या बैंक संचालित नहीं करता है। यह पूरी तरह से Blockchain Technology पर आधारित Currency है।

Cryptocurrency में Invest कैसे करें?

Cryptocurrency में आप आज के समय में बहुत आसानी के साथ Invest कर सकते है। हालाकिं आज से कुछ समय पहले Cryptocurrency में इन्वेस्ट करना बहुत मुश्किल होता था। लेकिन आज के समय में Internet पर कई ऐसी वेबसाइट और App मौजूद है, जहाँ पर आप Cryptocurrency में Invest कर सकते है। लेकिन इनमे से भी आपको एक सही प्लेटफार्म को चुनना बहुत ज्यादा जरुरी है। अगर हम Best Cryptocurrency Investment App in India की बात करें, तो इनमे WazirX App सबसे बेस्ट App है। आप यहाँ पर किसी भी Cryptocurrency में Invest कर सकते है।

Cryptocurrency Value

जैसा की आपको पहले ही बताया गया है, की Cryptocurrency एक प्रकार की Digital Currency है। इसे नोट या सिक्को की तरह बैंक में नहीं रखा जा सकता है। इसे हम Electronic Money के नाम से भी जानते है। लेकिन आप Cryptocurrency के द्वारा किसी भी चीज को ऑनलाइन खरीद सकते है। साथ ही आप इसके इसमें Invest भी कर सकते है Trading भी कर सकते है। अगर हम Cryptocurrency Value के बारे में जाने तो इसकी दुनिया की सबसे महंगी मुद्राओं में की जाती है। हालाकिं दुनिया की सबसे महंगी मुद्रा कुवैती दीनार है, लेकिन Cryptocurrency एक दीनार से हजारो गुना ज्यादा महंगी होती है। और इसकी Value कभी भी एक जगह पर नहीं रूकती है, यह ऊपर निचे होती रहती है, अगर हम पिछले कुछ साल का रिकॉर्ड देखते है, तो यह दिन प्रतिदिन महंगी होती जा रही है।

Cryptocurrency कैसे काम करती है? (How Does Cryptocurrency Work)

Cryptocurrency एक कंप्यूटर Network के माध्यम से चलती है। यह वास्तव में Blockchain पर आधारित है। यहाँ पर होने वाली सभी Transaction का रिकॉर्ड Save होता है। यहाँ पर होने वाली सभी Transaction की निगरानी Computer द्वारा होती है। इस तरह की गतिविधि को Cryptocurrency Mining कहते है। इंटरनेट पर बहुत सारे Cryptocurrency Mining Software भी मौजूद है।

जैसा की आपको ऊपर बताया गया है, की Cryptocurrency की सभी Transaction को Blockchain के अंदर Save किया जाता है। इस Blockchain की पूरी Security और Encryption का कार्य Miners का होता है। इसलिए Miners द्वारा एक Cryptographic Puzzle को Solve कर एक बेहतर Block Code ढूंढा जाता है। जब एक Miners एक सही और उचित Block कोड ढूंढ लेता है, तो उसे Blockchain में Add कर दिया जाता है।

इसके बाद इसे Computer Network द्वारा Verify किया जाता है, इस Verify Process को Consensus कहते है। इसके बाद जब Verify Process पूरा हो जाता है, Consensus पूरी तरह से सुरक्षित हो जाता है, इसके बाद जिस Miner ने इसे Secure किया होता है, उसे कुछ Cryptocurrency Coins दिए जाते है। यह Cryptocurrency Coins Miners के लिए एक तरह के Reward होते है, इन Coins को “Proof of Work” कहते है।

क्रिप्टोकरेंसी के प्रकार (Top Cryptocurrencies)

 Types of Cryptocurrency in Hindi

जब भी हम क्रिप्टोकरेंसी के बारे में बात करते है, या फिर हम Top Cryptocurrency की बात करते है, तो हमारे मन में सबसे पहले एक ही बात आती है, Bitcoin इसके बारे में लगभग हर वो व्यक्ति जानता है, जिसे Cryptocurrency के बारे में थोड़ी बहुत भी जानकारी है। लेकिन आपको बता दें, की Bitcoin के अलावा भी पूरी दुनिया में बहुत सारी Top Cryptocurrency है। इन Cryptocurrency के बारे में आपको शायद पता ना हो। तो आइये जानते है Top Cryptocurrency List के बारे में पूरी जानकारी –

1. Bitcoin (BTC)

Bitcoin की शुरुआत सन 2009 में Satoshi Nakamoto के द्वारा की गयी थी। यह दुनिया की सबसे पहले Cryptocurrency थी, जिसने सबसे ज्यादा सफलता प्राप्त की थी। Bitcoin से पहले भी कई Digital Currency को बनाया गया था, लेकिन उनमे से कोई भी Bitcoin की तरह Popular नहीं हुई। लेकिन Bitcoin ने कुछ ही समय में आसमान छू लिया था। भारत में सबसे ज्यादा Bitcoin की कीमत 44,54,673 रूपये तक गयी है। हालाकिं इससे भी ऊपर जा सकती है, इसका Price ऊपर निचे होता रहता है।

2. Tether (USDT)

Tether Cryptocurrency की शुरुआत सन 2014 जुलाई में की गयी थी। शुरूआती में इस Cryptocurrency का नाम Realcoin था। लेकिन बाद में इसका नाम Tether रख दिया गया था। Tether एक स्थिर Cryptocurrency है, इसका मूल्य हमेशा एक डॉलर के बराबर होता है। इस Currency को एथेरियम और बिटकॉइन ब्लॉकचैन पर होस्ट किया जाता है। इस क्रिप्टोकरेंसी का टोकन टीथर लिमिटेड द्वारा जारी किये जाते है, यह एक हांगकांग की कंपनी है।

3. Polygon (MATIC)

Polygon Cryptocurrency को 2017 में बनाया गया था। यह Protocol and Framework के साथ Blockchain Network को कनेक्ट करने के लिए एक ढांचा है। इस कंपनी की स्थापना संदीप नेलवाल, अनुराग अर्जुन, जयंती कनानी, और मिहेलो बजेलिक द्वारा की गयी थी।

4. Cosmos (ATOM)

Cosmos Blockchain Network को एक दूसरे के साथ जोड़ने और उनके बिच Communication and Data Sharing करने में मदद करता है। Cosmos को Network of Blockchain के नाम से भी जाना जाता है। Cosmos Blockchain Network में Communication, Transaction और Data Sharing के लिए Tools और Product का उपयोग करता है।

5. Monero (XMR)

Monero एक Popular Cryptocurrency है, जिसे 2014 में जारी किया गया था। Monero का उपयोग ज्यादातर Dark Web में किया जाता है। क्योकिं Monero Currency अपने Security Fetures के लिए जानी जाती है। इसलिए इस Currency का उपयोग ज्यादातर अवैध गतिविधियों के लिए भी किया जाता है।

6. NameCoin (NMC)

NameCoin एक प्रकार की Cryptocurrency है, इसे Bitcoin से जोड़ा गया है, यह पूरी तरह से बिटकॉइन पर आधारित करेंसी है, जो की Proof of Work Algorithm का उपयोग करता है। दरअसल क्रिप्टोकरेंसी को सुरक्षित रखने के लिए प्रूफ-ऑफ-वर्क (POW) का प्रस्ताव जारी किया गया था। जिस तरह से बिटकॉइन 21 मिलियन सिक्को तक सिमित है, उसी तरह यह भी 21 Million सिक्को तक सिमित है। NameCoin अपने खुद के Blockchian Transaction Database में Data को स्टोर कर सकता है। इसकी मुख्य बात यह है, की यह Censorship-Resistant Domain Name जो की .bit है। यह एक Top Level Domain है, जिस तरह से .net और .com Domain होते है। लेकिन फिर भी इस Domain पर ICANN (Internet Corporation For Assigned Names And Numbers) का किसी भी तरह का कोई नियंत्रण नहीं है।

7. Ethereum (ETH)

Ethereum (ETH) Cryptocurrency को 2015 में लॉन्च किया गया था, यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी Cryptocurrency है। Ethereum एक प्रकार से Decentralized Open-Source Blockchain के रूप में कार्य करती है। इसे Ether के नाम से भी जाना जाता है, और यह विश्व में सबसे ज्यादा Actively Used Blockchain Network है।

8. Litecoin (LTC)

Litecoin (LTC या ) MIT/X11 एक Peer-To-Peer Cryptocurrency है। यह एक प्रकार का Open Source Project है। इसे अक्टूबर 2011 में लॉन्च किया गया था। यह Cryptocurrency लगभग बिटकॉइन की तरह ही है।

9. BitTorrent (BTT)

BitTorrent Cryptocurrency को मुख्य रूप से Peer-to-peer File Sharing Protocol पर आधारित करके बनाया गया है। BitTorrent को Tron Foundation द्वारा बनाया गया था। इस मुद्रा का मुख्य उद्देश्य Untrusting Process Participants के बिच में होने वाली File Transfer गतिविधि को आसान करना है। यह Currency Blockchain Technology पर आधारित है।

10. Peercoin (PPC)

Peercoin एक प्रकार की Proof-of-stake Based Cryptocurrency है। जिसे अगस्त 2012 में लॉन्च किया गया था। इसके अलावा यह पीयर-टू-पीयर और प्रूफ-ऑफ-वर्क System का भी उपयोग करती है। Proof-of-stake सिस्टम एक प्रकार से Holding Person को नये सिक्के प्रदान करता है, जिसका मतलब है, की सभी प्रूफ-ऑफ-स्टेक के ब्लॉक का 1% Share Holder को मिलेगा। जिससे की यह एक प्रकार से Currency को महंगा करने में सहायक होता है।

क्रिप्‍टोकरेंसी के फायदे (Benefits of Cryptocurrency)

Cryptocurrency का Use आज के समय बहुत ज्यादा किया जा रहा है। सबसे ज्यादा लोग Cryptocurrency में Invest कर रहे है। लेकिन कई लोगो के मन में एक सवाल आता है, की Cryptocurrency के फायदे क्या है, तो आइये जानते है, Advantages of Cryptocurrency –

  • क्रिप्टोकरेंसी पूरी तरह से Secure है, क्योकिं यह एक प्रकार से Digital Currency के रूप में कार्य करती है, यहाँ पर किसी भी तरह का Froud होने की कोई भी सम्भावना नहीं है।
  • क्रिप्टोकरेंसी में आपको बहुत सारे Digital Wallets मिल जाते है, जिसकी वजह से आप यहाँ पर आसानी से Invest कर सकते है।
  • क्रिप्टोकरेंसी को खरीदना और बेचना बहुत ही आसान होता है, आप इसे किसी भी समय खरीद सकते है, और किसी भी समय बेच सकते है।
  • क्रिप्टोकरेंसी के लिए आपको किसी भी तरह के Bank की आवश्यकता नहीं होती है।
  • इसकी सबसे ख़ास बात यह है, की क्रिप्टोकरेंसी को किसी भी राज्य या सरकार द्वारा नियंत्रित नहीं किया जाता है।
  • क्रिप्टोकरेंसी में अगर आप अपने पैसे Invest करते है, तो यहाँ पर आपको अच्छा मुनाफा हो सकता है, हालाकिं यह पूरी तरह से Market पर निर्भर करता है, लेकिन पीछे कई वर्षो से क्रिप्टोकरेंसी की कीमत लगातार बढ़ती जा रही है।

Cryptocurrency के नुकसान (Disadvantages of Cryptocurrency)

जिस तरह से हर चीजे के फायदे होते है, ठीक उसी तरह से उसके कुछ ना कुछ नुक्सान भी होते है। उसी तरह से क्रिप्टोकरेंसी के फायदे और नुक्सान (Cryptocurrency Advantages and Disadvantages) दोनों होते है। तो आइये जानते है, क्रिप्टोकरेंसी के नुक्सान क्या होते है –

  • Cryptocurrency में सबसे बड़ा नुक्सान Investor को हो सकता है, क्योकिं इस पर किसी भी Authority का नियंत्रण नहीं होता है। जिसकी वजह से किसी को भी यह नहीं पता होता है, की Cryptocurrency Price कब घटेगा और कब बढ़ेगा। हालाकिं पीछे कई वर्षो की रिपोर्ट के अनुसार Cryptocurrency का Price अभी तक निचे नहीं गिरा है, यह लगातार बढ़ता जा रहा है। लेकिन फिर भी इसमें Invest करना एक जोखिम भरा कार्य हो सकता है।
  • Cryptocurrency एक प्रकार की Digital Currency है, इसलिए यहाँ पर आय दिन Hack के अटैक होते रहते है। हालाकिं इसे पूरी तरह से Secure किया गया है, लेकिन Ethereumn Currency के साथ एक बार ऐसा हो चुका है।
  • क्रिप्टोकरेंसी पूरी तरह से Virtual Currency है, इसका किसी भी तरह का कोई सिक्का या नोट नहीं है।
  • क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग ज्यादातर Illegal Activities के लिए किया जाता है। इसका उपयोग चोरी के Credit/Debit Cards, Drugs आदि खरीदने के लिए किया जाता है।

क्या Cryptocurrency Legal है?

यह सवाल सभी लोगो के मन में आता है, क्या Cryptocurrency Legal है? तो आपको बता दे की इसका जबाब अलग अलग देशो के अनुसार अलग अलग है। क्योकिं कई देशो में Cryptocurrency Legal है, और कई देशो में Cryptocurrency Illegal है। अगर हम बात करें, की Cryptocurrency भारत में Legal है, तो इसका जबाब हाँ है। आप भारत में Cryptocurrency को खरीद सकते है। क्योकिं भारत सरकार ने अभी तक इस पर प्रतिबन्ध नहीं लगाया है। हालाकिं कुछ समय पहले भारत में Cryptocurrency पर प्रतिबन्ध लगाने की खबर सामने आयी थी। लेकिन भारत के सर्वोच्च न्यायालय ने Reserve Bank of India द्वारा लगाए गए प्रतिबन्ध को हटा दिया है। लेकिन कुछ खबरों के मुताबिक भारत सरकार क्रिप्टोकरेंसी पर Restricted or Regulated के विषय में कानून जारी करेगी।

क्रिप्टोकरेंसी का इतिहास (History of Cryptocurrency)

जिस तरह से अन्य चीजों का इतिहास होता है, उसी तरह से Cryptocurrency का भी अपना एक पुराना इतिहास है। सबसे पहले क्रिप्टोग्राफिक की शुरुआत 1983 में अमेरिका के डेविड चाउम ने की थी, जिन्होंने एक अज्ञात क्रिप्टोग्राफिक इलेक्ट्रॉनिक पैसे की कल्पना के आधार पर इस विचार किया था। इसके बाद इन्होने सन 1995 में डिजिकैश के माध्यम से शुरू किया था।

क्रिप्टोग्राफ़िक इलेक्ट्रॉनिक Transaction का एक शुरूआती रूप है। सन 1996 में नेशनल सिक्योरिटी एजेंसी ने How to Make to Mint पेपर में एनक्रिप्टेड इलेक्ट्रॉनिक कैश की क्रिप्टोग्राफ़ी के बारे में बताया था। इससे पहले इसे MIT Mailing List में भी प्रकाशित किया गया था, इसके बाद इसे सन 1997 में American Law Review में भी प्रकाशित किया गया था।

इतिहास की सबसे पहली Cryptocurrency को सातोशी नकामोतो द्वारा लॉन्च की गयी थी। इस क्रिप्टोकरेंसी का नाम Bitcoin था। हालाकिं Satoshi Nakamoto का नाम Presumed इस पर कई लोगो की अलग अलग राय है, कुछ लोगो का ऐसा मानना है, की Bitcoin को किसी Organization द्वारा बनाया गया है। जिस Organization ने Bitcoin को बनाया है, उसका नाम Satoshi Nakamoto था।

लेकिन इस बात को लेकर कोई भी मत नहीं है। अगर हम Bitcoin के Founder के बारे में Wikipedia पर भी देखते है, तो वहां पर भी Satoshi Nakamoto की कोई Real Picture नहीं है, वहां पर एक Statue की Pic लगायी गयी है। शुरुआत में क्रिप्टोकरंसी का उपयोग Dark Web में किया जाता था, हालाकिं अभी भी इसका उपयोग Dark Web में किया जाता है, लेकिन यह Dark Web से ही लोकप्रिय हुई है।

Bitcoin लॉन्च होने के 3 महीने बाद में ही इसकी Dark Web में लगभग 1.2 Million Transactions हो चुकी थी। ऐसा इसलिए हुआ क्योकिं यहाँ से होने वाले लेन देन के बारे में किसी को भी कुछ पता नहीं चलता है। यहाँ पर यूजर की पहचान छुपी होती है। वही अगर हम Bank द्वारा कोई भी Transactions करते है, तो बैंक की पूरी नजर हमारे ऊपर होती है। लेकिन Cryptocurrency में ऐसा नहीं होता है, यहाँ पर पूरी Information छुपी होती है।

क्रिप्टोकरेंसी के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

भारत की क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

भारत की क्रिप्टोकरेंसी कोई भी नहीं है।

क्रिप्टोकरेंसी कैसे खरीदें?

क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के लिए आपको Internet बहुत सारी वेबसाइट मिल जाएंगी। आप WazirX, CoinDCX से क्रिप्टोकरेंसी को आसानी से खरीद सकते है। इसके अलावा आप Plays Store से इन Website की App भी Install कर सकते है। यहाँ पर आप अपनी KYC पूरी करने के बाद क्रिप्टोकरेंसी को आसानी से खरीद सकते है।

Note – यह लेख Cryptocurrency पर आधारित था। जिसमे आपको बताया गया है, की Cryptocurrency क्या है (Cryptocurrency in Hindi) इसके अलावा आपको क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ी और भी कई महत्वपूर्ण जानकारियां दी गयी है, जैसे की क्रिप्टोकरेंसी कैसे काम करती है, और भी बहुत कुछ जानकारियां इस लेख में आपको बताई गयी है। मुझे उम्मीद है, की आपको यह लेख जरूर पसंद आया होगा। अगर आपका इस लेख से सम्बंधित कोई भी सवाल है, तो आप हमें कमेंट करके बता सकते है। अगर आपको यह लेख पसंद आया, तो कृपया इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें, धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here