3 तरीके घर पर नींबू का पेड़ कैसे लगाएं

Nimbu Ka Ped Kaise Lagaye

Nimbu Ka Ped Kaise Lagaye – इस लेख में आज बात करेंगे की नींबू का पेड़ कैसे उगाएं। इसके अलावा नींबू के सभी प्रकार से उगाएं जाने वाले तरीके, और नींबू के पेड़ की देखभाल कैसे करें। इससे जुड़ी सभी जानकारी आज आपको मिलने वाली है। मुझे पूरी उम्मीद है, की अगर आप इस लेख को पूरा पढ़ते है, तो आपको यह जरूर पसंद आएगा। इससे पहले हम नींबू की खेती और इससे जुड़ी कुछ सामान्य जानकारी के बारे में जानेगे।

नींबू के पौष्टिक गुण और परिचय

नींबू एक स्वास्थ्यवर्धक फल है, इसके अंदर समृद्ध मात्रा में विटामिन से और साइट्रिक एसिड पाया जाता है। यह खाने में खट्टा होता है। इस फल का रंग कच्चे होने पर हरा और पक जाने पर पीला या नारंगी हो जाता है। इसके अलावा नींबू के अंदर कई और विटामिन जिनमे विटामिन ए और विटामिन बी भी शामिल है।

नींबू के अंदर स्वास्थ्य को अच्छा बनाने वाले निम्न गुण पाए जाते है, जिनमे लोहा, ताम्बा, क्लोरीन, सोडियम, पोटेशियम, और प्रोटीन आदि शामिल है। यह सभी तत्व शरीर को ऊर्जा प्रदान करते है। जिससे शरीर संक्रमण से सुरक्षित रहता है। इसके अंदर पाए जाने वाला विटामिन सी हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

इसके अलावा यह शरीर की त्वचा के लिए भी बहुत लाभदायक होता है। नींबू खाने के फायदे और नुक्सान दोनों होते है। अगर आप इसे एक नियंत्रित मात्रा में सेवन करते है, तो यह आपका लाभ पहुँचता है। अगर आप गर्मियों के मौसम में नहाते समय एक बड़ी बाल्टी पानी में एक नींबू का रस मिलाकर नहाते है, तो इससे आपका शरीर ताजा और स्वास्थ्य रहता है।

नींबू के पौधे को लगाने का सही समय

वैसे तो आप नींबू के पौधे को किसी भी मौसम में लगा सकते है। लेकिन प्रत्येक पौधे को लगाने का एक सही समय होता है। अगर हम पौधे को सही समय और सही मौसम में लगते है, तो उसके ऊपर अच्छी मात्रा में फल आते है।

इसी तरह नींबू के पौधे को लगाने का सही समय जून से जुलाई और जनवरी से फरवरी और मार्च का होता है। अगर आप नींबू को ग्राफ्टिंग या फिर कलम के द्वारा उगाते है, तो इसके लिए बरसात का सबसे उचित समय माना जाता है।

नींबू की उन्नत किस्में कौन सी है

नींबू की कई किस्मे होती है, जो की प्रजाति के अनुसार अलग अलग कार्य में उपयोग की जाती है। आईये जानते है नींबू की लोकप्रिय उन्नत किस्मे –

  • मीठा नींबू
  • बारहमासी नींबू
  • कागजी नींबू
  1. मीठा नींबू – मीठा नींबू ग्राफ्टिंग के द्वारा उगाया जाता है। इस पर अन्य पोधो की अपेक्षा ज्यादा फल आते है। इस पौधे पर लगभग 1 से 2 साल में फल आना शुरू हो जाते है।
  2. बारामासी नींबू – यह पौधा एक साल में दो बार फल का उत्पादन करता है। गर्मियों के मौसम में इस पर जुलाई से अगस्त के महीनो में और सर्दियों में फरवरी से मार्च के महीनो में फाल आते है।
  3. कागजी नींबू – कागजी नींबू को देशी नींबू भी कहा जाता है। यह अन्य नींबू के फलो की अपेक्षा थोड़ा छोटा होता है। इसे अंदर सबसे अधिक मात्रा में रस निकलता है। इसके पौधे पर पेड़ लगाने के लगभग 5 साल बाद फल आना शुरू होते है।

nimbu ka ped kaise ugaye

नींबू के बीज से नींबू का पेड़ गमले में कैसे लगाएं

नींबू का पौधा उगाने से पहले आवश्यक सामग्री

  1. सबसे पहले आपको बाजार से लाये हुए नींबू से बीज निकालने है, अगर आपके घर के आस पास कोई नींबू का पेड़ है, तो उसके नींबू से भी आप बीज निकल सकते है।
  2. उपजाऊ मिटटी जिसमे वर्मीकम्पोस्ट, नीम खली और सामन्य मिटटी सबसे बेहतर मानी जाती है।
  3. एक 12 से 14 इंच का गमला। जिसकी जरुरत पौधा बड़ा होने के बाद पड़ेगी शुरुआत में आप किसी भी छोटे गमले में पौधा लगा सकते है। या फिर किसी प्लास्टिक के गिलास में भी लगा सकते है।

नींबू का पौधा लगाने की विधि

  1. एक नींबू से सावधानीपूर्वक बीज निकाले, ध्यान रहे की किसी भी बीज पर कोई चाकू का निशान ना आये।
  2. जब भी आप नींबू के पौधे को बीज से उगाये हमेशा 10 से 12 लें क्योकिं इनमे से आधे बीज फंगस लग जाने के कारण ख़राब जो जाते है।
  3. बीज निकलने के बाद तैयार की गयी मिटटी को गमले में भरें। हमेशा ऐसे गमले का चुनाव करें, जिसके निचे छेद हों।
  4. गमले की मिटटी में किसी भी लकड़ी की मदद से एक या दो इंच गहरे गड्डे कर दें।
  5. इन सभी गड्डो में बीजो को डालकर ऊपर से मिटटी से ढक दें।
  6. किसी स्प्रे की सहायता से नींबू के बीजों को पानी दें।
  7. जब तक पौधा बीज से निकलने नहीं लगता तब तक, इसकी मिटटी में नमी बनायें रखें।
  8. लगभग तीन महीने बाद आपका पौधा बड़े गमले में लगाने के लिए तैयार हो जाएगा।

नींबू के पौधे को बड़े गमले में शिफ्ट करें

  1. जब कोई भी पौधा हम बीज द्वारा उगाते है, तो उसे पहले सीडलिंग ट्रे या फिर किसी छोटे गमले में उगाया जाता है। जब पौधा बीज द्वारा तैयार हो जाता है, तो उसे किसी बड़े गमले में लगाया जाता है, इस विधि को री-पॉट या री-पोटिंग कहा जाता है।
  2. नींबू के पौधे को बड़े गमले में शिफ्ट करने के लिए, आपको एक उपजाऊ मिटटी का मिश्रण तैयार करना है। इसके अंदर वर्मीकम्पोस्ट, और बगीचे की सामान्य मिटटी, और नीम खली को अच्छी तरह से मिलाएं। अगर नीम खली आपके पास नहीं है, तो इसको छोड़ सकते है।
  3. मिटटी का मिश्रण तैयार करने के बाद आपको एक बड़े गमले में इस मिटटी को भरना है। मिटटी को गमले में भरने के बाद पौधे को गमले में लगा दें।
  4. पौधा गमले में लगाने के बाद, इसके अंदर भरपूर मात्रा में पानी डालकर इसको कम से कम एक सफ्ताह के लिए ऐसी जगह पर रखना चाहिए। जहाँ पर सूरज की सीधी धुप ना आती हों।
  5. जब पौधा बड़ा होने लगे, तो आप इसे सीधी धुप वाली जगह पर रख सकते है।

नींबू का पेड़ गमले में कैसे लगाएं वीडियो

नींबू के पौधे की कलम कैसे लगाएं

  1. नींबू की के पौधे को कलम से तैयार करने के लिए आपको सबसे पहले चार से पांच कलम तैयार करनी है।
    कलम की लम्बाई लगभग 5 से 6 इंच रखें। कटिंग को काटने के बाद इसे सभी पत्तो को किसी तेज धार वाले औजार से काट दें।
    कलम से सभी पाटियों को काटने के बाद, कलम को निचे से 45 डिग्री पर एक कट लगाना है।
  2. इसके बाद आपको एक डिस्पोजल गिलास या फिर कोई भी छोटा गमला लेना है।
  3. इसके बाद आपको इस गमले में सिर्फ रेतीली मिटटी को भरना है। इसके अंदर आप घर बनाने वाले रेत का उपयोग भी कर सकते है।
  4. रेत को गमले में भरने के बाद आपको अपनी कटिंग की जड़ में रूटिंग हार्मोन पाउडर लगाना है। अगर आपके पास रूटिंग हार्मोन पाउडर नहीं है, तो आप उसको ऐसे ही गमले में लगा दें।
  5. कटिंग को लगाने के बाद गमले में अच्छी तरह से पानी भर दें। जब तक उसके निचे वाले छेड़ो से पानी निकलना शुरू ना हो जाएँ।
  6. इसके बाद आपको अपने गमले को किसी छाया वाले स्थान पर रख देना है। जब तक कटिंग से नई शाखाएं निकलना शुरू नहीं होती, तब तक गमले में नमी बनायें रखें। लगभग एक से दो महीनो में आपकी कलम में जड़ें निकलना शुरू हो जाएँगी।

नींबू का कलम बांधने का तरीका

  1. नींबू की कलम बांधने की विधि बहुत ही आसान होती है। बस आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होता है। इस विधि को ग्राफ्टिंग भी कहा जाता है।
  2. नींबू की कलम बांधने के लिए आपके पास सबसे पहले एक बीज से उगाया हुआ पौधा होना चाहिए।
  3. जब वह पौधा लगभग एक इंच मोटा हो जाएँ, तो उसे बीच से काटकर उसमे अंदर कलम को बांधना चाहिए।
  4. इसके लिए आपको एक बड़े नींबू के पौधे की कलम लेनी है, उस कलम की सभी पत्तियों को हटाकर, उसके निचे के हिस्से को इस तरह से काटें, की वह पौधे में लगे चीरे पर ठीक तरह से फिक्स हो जाएँ।
  5. कलम को पौधे के तने में फसाकर ऊपर से उस पर पॉलीथिन को अच्छी तरह से लपेट देना चाहिए। जिससे की उसके अंदर बहार से पानी और हवा ना जा सके।
  6. अगर आप इस विधि द्वारा नींबू की कलम को बांधते हो, तो लगभग एक से दो महीने में आपका पौधा अच्छा हो जायेगा।

नींबू की कलम बांधने की विधि वीडियो

नींबू के पेड़ की देखभाल कैसे करें

  1. नींबू के पौधे की देखभाल करने के लिए सबसे पहले आपको इसके बारे में यह जानना बहुत जरुरी होता है, की नींबू के पेड़ पर फूल और फल किस महीने में आते है।
  2. अगर आपके घर में अम्बिया बहार नींबू का पेड़ है, तो उसके ऊपर जनवरी से फरवरी के महीने में फूल आते है, और जून से जुलाई के महीने में नींबू लगना शुरू हो जाते है।
  3. नींबू की दूसरी प्रजाति हस्त बहार होती है जिस पर अक्टूबर से नवम्बर के महीनो में फूल आते है। इन फूलों से मार्च और अप्रैल में फल आते है।
  4. आप इन्ही बातों को ध्यान में रखकर अपने नींबू के पौधे की देखभाल करनी चाहिए।
  5. जिस महीने में नींबू के फूल आते है, उससे लगभग 15 दिन पहले से आपको नींबू के पौधे को पानी नहीं देना चाहिए। इसकी जड़ो को पूरी तरह से सूखा दे। इससे नींबू के अंदर ज्यादा मात्रा में फूल आते है।
  6. नींबू के पौधे को कब और कौन सी खाद देनी चाहिए? नींबू के पौधे को दिसम्बर से जनवरी और मई से जून इन महीनो को छोड़कर आप पुरे वर्ष नींबू के पौधे को खाद दे सकते है। इसके लिए आपको अपने नींबू की जड़ से लगभग एक फुट दूर उसके चारो और एक नाली बनानी चाहिए, इस नाली के अंदर एक या दो मुट्ठी वर्मीकम्पोस्ट और एक चम्मच NPK खाद मिलकर डालें।
  7. जब पौधे पर फूलों से फल बनना शुरू हो जाएँ, तो प्रत्येक सफ्ताह में एक बार पानी देना चाहिए। इससे नींबू का आकर बढ़ता है।
  8. अगर आपके नींबू के पेड़ में फूल नहीं आते या फिर फूल गिर जाते है, तो इसका मतलब यह भी हो सकता है, की आपके पौधे का परागण नहीं हो रहा है। इसके लिए आपको अपने पौधे को ऐसी जगह पर रखना चाहिए। जहाँ पर मधुमखियां, तितलियाँ आदि रहती हो।
  9. अगर आपके यहाँ पर ऐसी कोई भी जगह नहीं है, जहाँ पर मधुमखीयां आया फिर तितलियाँ आदि नहीं आती है, तो आप अपने नींबू के फूलों के ऊपर से मेकअप करने वाली ब्रश को घुमा सकते है, इससे भी फूलो की संख्यां बढ़ जाती है।
  10. नींबू के पौधे को आप जब भी लगाएं एक ऐसी जगह पर लगाएं जहाँ पर सूरज की अच्छी रौशनी आती हो।
  11. नींबू के पेड़ में फंगस लगने का खतरा हमेशा बना रहता है। इसके लिए आपको समय समय पर इसके अंदर फंगी साइड पाउडर का इस्तेमाल करते रहना चाहिए।
  12. फंगस लगने का सबसे बड़ा कारण होता है, पौधे के अंदर ज्यादा पानी भर जाना है। पौधे को फंगस से बचाने के लिए आपको हमेशा सुबह के समय पानी देना चाहिए।
  13. जब भी आपके पौधे पर किसी भी तरह के किट पतंगे लगने शुरू होते है, तो इससे पौधे को बचाने के लिए नीम के तेल को पानी में मिलकर उसका स्प्रे करें। इससे पौधा स्वस्थ रहता है।

यह जानकारी भी पढ़ें

Note – यह पोस्ट नींबू का पेड़ कैसे लगाए इसके ऊपर आधारित थी। अगर किसी का सवाल यह है, की कागजी नींबू का पौधा कैसे लगाएं तो आपको बता दे सभी नींबू के पौधे लगाने की यही विधि होती है। इस पोस्ट में आपको सभी विधि बताई गयी है। अगर आपको किसी भी तरह से पढ़ने में कुछ समझ में नहीं आता है, तो आप वीडियो देखकर आसानी से नींबू के पौधे को गमले में लगाना सिख सकते है।

हमने अपनी तरफ से सब कुछ आपको समझने की कोशिश की है। अगर इस पोस्ट से सम्बंधित कोई भी सवाल है, तो कमेंट करके बता सकते है। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी तो कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें, ध्यानवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here