गुलाब का फूल की जानकारी

Rose Flower Information in Hindi

Rose Flower in Hindi: गुलाब का फूल  बहुत ही सुन्दर और खूबसूरत होता है। आज हम इस आर्टिकल में गुलाब के फूल की विस्तृत जानकारी जानेगे। इस फूल को दुनिया के सभी खूबसूरत और सुगन्धित फूलो में से एक माना जाता है। पूरी दुनिया में सभी लोग गुलाब के फूल को पसंद करते है। इसकी वजह है, इसका रंग और इसके अंदर से आने वाली सुगंध।

गुलाब का पौधा एक बहुबर्षीय झाड़ीदार पौधा है, जिस पर छोटे छोटे बहुत नुकीले कांटे होते है। आज हम इससे जुड़ी सभी जानकारी जानेंगे, गुलाब के फायदे, यह कितने प्रकार का होता है। गुलाब के पौधे को कैसे उगाया जाता है, और इसकी देखभाल कैसे की जाती है। मुझे पूरी आशा है, की आपको यह लेख पूरा पढ़ने पर गुलाब से जुड़ी सभी जानकरी मिल जायेगी।

Table of Contents

गुलाब का फूल, पौधे की जानकारी 

गुलाब एक बहुबर्षीय पौधा है, जिसका आकर झाड़ीदार होता है, इसके ऊपर सुगन्धित फूल आते है। गुलाब का अंग्रेजी नाम Rose है, और वानस्पतिक नाम Rosa है। यह Rosaceae परिवार से सम्बंधित है। इस प्रजाति के सभी फूल कोमल और मुलायम रहते है। इसकी सौ से ज्यादा प्रजातियां पायी जाती है, जिनमे से सबसे ज्यादा एशिया की है। इस पौधे को मूलरूप से यूरोप तथा उत्तरी अमेरिका का मूल निवासी माना जाता है।

गुलाब का फूल आमतौर पर लाल रंग का ज्यादा देखने को मिलता है। लेकिन यह लाल, गुलाबी, पीला, और काला आदि रंगो में भी पाया जाता है। जब फूल खिलता है, तो इसके निचे का हिस्सा चारो और से पंखुड़ियों से ढक जाता है। यह पंखुड़ियां बहुत कोमल होती है। इनकी वजह से यह बहुत सुन्दर और आकर्षक नजर आता है।

इसके पौधे पर बहुत कांटे होते है, जो की बहुत नुकीले होते है। पौधा एक झाड़ी के आकर का होता है। यह पुरे साल हराभरा रहता है, इसका कभी भी पतझड़ नहीं होता है।

इस पौधे की ऊंचाई लगभग 5-6 मीटर तक हो जाती है। पौधे की शाखाओं पर थोड़ी थोड़ी दुरी पर कांटे होते है। यह कांटे शाखा के मुकाबले थोड़े कमजोर होते है। अगर इन काँटों को हाथो से हटाया जाता है, तो यह बहुत ही आसानी से हट जाते है।

गुलाब का फूल की जानकारी 

गुलाब के पौधे की पत्तियों का रंग हरा होता है, यह शाखाओं के दोनों और से निकलती है। इन पत्तियों का आकार गोल होता है, इसमें कुछ पत्तियां अंडाकार भी होती है। इनके दोनों छोरो पर हलकी दांतेदार धारियां होती है।

इन पत्तियों का ऊपरी हिस्सा चिकना होता है, और यह निचे से थोड़ी खुदरी होती है। गुलाब की बहुत ज्यादा मांग होने के कारण इसकी खेती दुनियां के लगभग सभी हिस्सों में की जाती है। इस पौधे की सुंदरता के कारण भारत में कई लोग इसको अपने घरो में सजावटी पौधे के रूप में लगाते है।

गुलाब का फूल प्यार करने वालो के लिए बहुत ही सुबह माना जाता है, जब दो प्यार करने वाले लोग पहली बार मिलते है, तो वह एक दूसरे को गुलाब का फूल देकर प्यार का इजहार करते है। भारत में 7 फरवरी के दिन गुलाब दिवस “Rose Day” मनाया जाता है। इस दिन सभी लोग एक दूसरे को गुलाब का फूल देते है।

गुलाब के फूल का प्रयोग कई कंपनिया सौन्दर्य प्रोडेक्ट बनाने के लिए भी करती है। इसकी खुसबू और सुगंध के कारण इस फूल को फूलो का राजा भी कहते है। हमारे देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर नेहरू अपनी कोट की जेब में हमेशा एक ताजा गुलाब लगते थे।

गुलाब के फूल का गुलकंद भी बनाया जाता है, जो की खाने में बहुत स्वादिष्ट होता है। इस फूल का इस्तेमाल पूजा पाठ और शादी समारोह में सजावट के लिए भी किया जाता है। यह फूल इतना ज्यादा लोकप्रिय है, की अगर किसी की सुंदरता के बारे में कोई प्रशंसा करता है, तो उसके लिए भी इसका नाम लिया जाता है। इससे जुड़ी कई शायरी और कवितायेँ लेखकों और शायरों ने लिखी है।

Rose Flower Information in Hindi

गुलाब का फूल कितने प्रकार के होते हैं?

गुलाब बहुत खूबसूरत होता है यह तो सबको पता है, लेकिन ज्यादातर लोगो को यह नहीं पता होता की, गुलाब कितने रंग के होते हैं? और गुलाब कितने प्रकार का होता है। इसके अलावा हम गुलाब के सभी रंगो का मतलब भी जानेगे। गुलाब का फूल जैसे ही हमारे मन में आता है, तो सबसे पहले आपकी आँखों के सामने सिर्फ एक ही रंग आता है जो की है लाल रंग का गुलाब। लेकिन इसके अलावा भी यह अनेक रंगो में पाया जाता है। इन रंगो की सूचि इस प्रकार है –

1. लाल गुलाब

लाल गुलाब को उस समय दिया जाता है, जब लोग अपने प्यार का इजहार करते है। यह हमेशा से प्यार का प्रतिक रहा है। यह सबसे ज्यादा Valentine’s Day के दिन भी दिया जाता है।

2. नीला गुलाब

नील रंग को शांति का प्रतिक माना जाता है। अगर आप किसी को शांति का सन्देश देना चाहते है, तो आप उसको नीला गुलाब भेंट कर सकते है। इसके अलावा आप अपने सम्बन्धो को भी नीला गुलाब देकर मजबूत कर सकते है।

3. पीला गुलाब

पीले गुलाब को उस समय दिया जाता है, जब हम किसी को अपना सच्चा मित्र बनाते है। अगर आपका कोई ऐसा मित्र है, जिससे आप हमेशा के लिए मित्रता करना चाहते है, तो आप उसको पीला गुलाब दे। इसके अलावा जब हम किसी बीमार व्यक्ति को उसके स्वास्थ्य की शुभकामनायें देने जाते है, तब भी पीला गुलाब लेकर जाना चाहिए।

4. हरा गुलाब

हरे रंग के गुलाब को सुख-संपत्ति का प्रतिक माना जाता है। इसके अलावा हरा रंग भी सुख का प्रतिक होता है। अगर आप किसी को उसकी तरक्की और सुख की शुभकामनायें देने जाते है, तो ऐसे में आप हरे रंग के गुलाब का गुलदस्ता दे सकते है।

5. ऑरेंज गुलाब

नारंगी रंग उत्साह का प्रतिक माना जाता है। जब आप खुद को एनर्जी से भरपूर और एक उत्साह भरा महसूस करते है। तो ऐसे में आप अपने पास एक ऑरेंज गुलाब रख सकते है।

6. गुलाबी गुलाब

गुलाबी रंग के गुलाब को तारीफ का प्रतिक माना जाता है। जब आपके लिए किसी ने बहुत अच्छा काम किया है। तो आप उसको तारीफ़ में गुलाबी रंग का गुलाब देकर शुक्रियां अदा कर सकते है। इसके अलावा जब भी आपके मन में किसी के प्रति प्रेम या प्रसन्नता उत्पन्न होती है, तो उसको भी आप गुलाबी गुलाब दे सकते है।

7. बैंगनी गुलाब

बैंगनी रंग का गुलाब उस समय किसी को दिया जाता है। जब आप किसी से अपने पहले प्यार का इजहार करते है।

8. सफ़ेद गुलाब

सफ़ेद रंग को हमेशा से शुद्धता का प्रतिक माना गया है। इसके अलावा सफ़ेद रंग मासूमियत और कोमलता का भी प्रतिक होता है। जब आप अपने किसी गलत किये गए काम पर अफ़सोस करते है। तो ऐसे में आप उस व्यक्ति को सफ़ेद गुलाब दे सकते है। इससे सामने वाला व्यक्ति आपकी मासूमियत को समझ जायेगा यह गुलाब ज्यादातर उस समय दिया जाता है। जब आपको किसी से माफ़ी मांगनी हो।

9. काला गुलाब

काला रंग हमेशा से दुश्मनी का प्रतिक माना जाता है। अगर आप किसी से दुश्मनी करते है। और उसको सीधा यह बात नहीं बोल सकते है। आप उसको काला गुलाब दे सकते है। इससे सामने वाला व्यक्ति समसझ जायेगा की आप उसके बारे में अच्छा नहीं सोचते है। काला रंग शोक और दुःख का प्रतिक भी होता है। कुछ देशो में जब कही पर मृत्यु होती है, तो लोग काला गुलाब लेकर जाते है।

How to Care Rose Plant in Summer in Hindi

घर पर गुलाब का पौधा कैसे उगाये

गुलाब के फूल का पौधा घर में कैसे लगाएं। गुलाब का पौधा लगाने की विधि। गुलाब का पौधा सभी पोधो की तरह बहुत आसानी से आप अपने गमले में लगा सकते है। इस पौधे को कई प्रकार से लगाया जाता है। हम आज सभी तरह की विधि के बारे में जाएंगे, जिसमे गुलाब के पौधे की कलम कैसे लगाएं, या गुलाब के बीज कैसे लगाए। इसको लगाने की सभी तरह की विधि जानते है। तो चलिए सबसे पहले जानते है गुलाब को कलम के द्वारा कैसे उगाया जाता है।

गुलाब की कटिंग कैसे लगाएं 

गुलाब की कटिंग लगाने से पहले आपको एक बात का ध्यान जरूर रखना है। हमेशा देशी गुलाब की कटिंग ही कटे। क्योकिं इंग्लिश गुलाब के पौधे को कटिंग के द्वारा नहीं उगाया जाता है। तो चलिए जानते है, गुलाब की कटिंग कैसे काटे और इसको कैसे लगाने की विधि।

गुलाब की कटिंग किस महीने में लगाएं? गुलाब की कटिंग हमेशा बरसात के महीनो में लगनी चाहिए। इन दिनों गुलाब की कटिंग बहुत अच्छी चलती है। इस मौसम में कटिंग की ज्यादा देखभाल भी नहीं करनी पड़ती है।

Step 1. सबसे पहले आपको एक देशी गुलाब के पौधे से पेन्सिल की मोटाई के बराबर 5 से 6 कटिंग लेनी है। जिनकी लम्बाई लगभग 6 से 7 इंच रखे। इस तरह की गुलाब की कटिंग अच्छे से जड़े पकड़ती है। ज्यादा मोटी कटिंग आपको नहीं लेनी है। जब भी गुलाब की कटिंग को लगे हमेशा एक साथ 8 से 10 कटिंग लगाएं क्योकिं इनमे से कुछ कटिंग ख़राब हो जाती है।

Step 2. सभी कटिंग को तैयार करने के बाद आपको एक गमले में मिटटी तैयार करनी है। इसमें तीन हिस्से बगीचे की सामान्य मिटटी और एक हिस्सा गोबर का पुराना खाद मिलकर। गमले में भर ले। गमले में मिटटी को अच्छी तरह से दबाये।

Step 3. इसके बाद आपको सभी गुलाब की कटिंग को लेना है, और उन्हें निचे से लगभग एक इंच पानी में डुबोकर उसके ऊपर रूटिंग हार्मोन पाउडर लगाएं। सभी कटिंग पर इसी तरह से रूटिंग हार्मोन पाउडर लगाकर रख ले।

Step 4. इसके बाद आप अपने गमले में किसी लकड़ी से दो इंच गहरे इतने गड्डे करें। जितनी आपकी कलम है। उन गड्डो में सभी कलम को लगाकर, उन्हें अच्छी तरह से दबा दे।

Step 5. कलम को लगाने के बाद, गमले में पानी भर दे। लगभग दो महीने तक आपको इसके अंदर नमी बनायें रखनी है। इस बीच गमले में बीच बीच में पानी का छिड़काब करते रहें। कभी भी आप अपनी गुलाब की कलम को हिलाकर ना देखे इससे कलम ख़राब हो जाती है।

Step 6. यह सभी कलम दो महीने के अंदर अंदर जड़े पकड़ लेती है। इसके बाद जब इनके ऊपर अच्छी तरह से पाते आने लग जाए। तो आपको इन्हे छोटे गमले से निकलकर किसी बड़े गमले में लगा देना है। इस तरह से आप गुलाब को कलम के द्वारा ऊगा सकते है।

गुलाब की कलम कैसे लगाएं वीडियो में देखें

गुलाब के बीज से पौधा कैसे तैयार करें

गुलाब के पौधे को बीज के द्वारा लगाने के लिए आपको हमेशा अधिक मात्रा में बीज लेने चाहिए। क्योकिं यह सिर्फ 40 से 50 प्रतिशत बीज ही उगते है। इसमें से आधे बीज ख़राब हो जाते है। गुलाब के बीजो को उगाने का सही समय क्या है? यह गुलाब की किस्म पर निर्भर करता है। यह अलग अलग प्रजाति के अनुसार अलग अलग मौसम में उगाये जाते है।

ज्यादातर इन बीजो को ठंडा मौसम पसंद होता है। आप इन्हे सितम्बर के महीने में लगाएं। इससे आपको बहुत अच्छा रिजल्ट देखने को मिलेगा। इन बीजो से पौधा निकलने में लगभग दो से तीन महीने का समय लगता है। चलिए जानते है, किस तरह से गुलाब के पौधे को बीजो से लगाया जाता है।

गुलाब के बीज कैसे तैयार करें

गुलाब के बीजो को तैयार करने के लिए आपको अपने फूलो को बहुत समय के लिए पौधे पर छोड़ना पड़ता है। लेकिन कुछ पोधो पर इसके बाद भी बीज नहीं बनते है। गुलाब के बीज ना बनने का सबसे बड़ा कारन होता है, परागण ना होना है, आपके पौधे पर बीज उस समय बनते है, जब गुलाब के फूलो पर मधुमक्खियां आती है। जिनकी वजह से परागण होता है।

गुलाब के पौधे से बीज कब तोड़ने चाहिए – इसके बीजो को तोड़ने का सही समय जनवरी माना जाता है। जिस समय सारी गुलाब की पंखुड़ियां गिर जाती है। उस समय इसके अंदर एक मोटा सा हरे रंग का बीज आपको दिखाई देता है। इसके अंदर गुलाब के बहुत सारे बीज होते है। सबसे पहले यह हरा होता है।

इसके बाद यह पीला होता है। और अंत में यह नारगी रंग का हो जाता है। जब यह नारंगी रंग का हो जाता है। तो उस समय आप इसके अंदर से गुलाब के बीजो को निकाल सकते है। इन्ही बीजो से गुलाब का पौधा तैयार किया जाता है।

गुलाब के बीजो को हमेशा सितम्बर के महीने में ही लगाएं, क्योकिं इन दिनों मौसम अच्छा रहता है। अगर आप ज्यादा सर्दियों में गुलाब के बीजो को लगते है, तो यह उगने में ज्यादा समय लेते है।

गुलाब के बीज से पौधा कैसे उगाये –

Step 1. सबसे पहले आपको गुलाब के बीजो को लेना है। इसके बाद उन्हें किसी चाकू से काटकर उसके अंदर से बीज निकाल लेने है। यह बहुत ही मजबूत होते है। तो आपको बीज निकलते समय ध्यान रखना है, की ज्यादा तेज चाकू चलने से बीज अंदर तक ना काट जाए। पहले आप इसके ऊपर का छिलका हटाएँ। इसके बाद बीज निकाले

Step 2. बीजो को लगाने के लिए आप छोटे प्लास्टिक गिलास का इस्तेमाल करें। अपने बीजो की संख्या के अनुसार आप गिलास ले। प्लास्टिक ग्लास के निचे चार से पांच छेद जरूर कर ले। क्योकिं इन बीजो को आपको पानी निचे से लगाना है। अगर आप पानी ऊपर से लगते है, तो पानी की धार से आपके बीज हिल सकते है। जिसकी वजह से ख़राब हो सकते है।

Step 3. प्लास्टिक ग्लास के निचे छेद करने के बाद, आपको इसके अंदर रेत भर लेना है। रेत में गुलाब के बीज बहुत अच्छे से उगते है। गिलास में रेत भरने के बाद आप थोड़ी थोड़ी दुरी पर बीजो को डाल दे।

Step 4. सभी बीजो को प्लास्टिक गिलास में डालने के बाद, इन्हे एक ऐसी ट्रे या पारात में रखना है, जिसमे यह गिलास लगभग दो से तीन इंच डुब जाये। इससे इन्हे जितने पानी की जरुरत होगी। यह खुद ही उतना पानी बर्तन से सोख लेंगे। गुलाब के बीजो को आपको हमेशा इसी प्रकार से पानी देना है।

Step 4. इसके बाद आप प्लास्टिक के ग्लासों को कुछ दिन के लिए ऊपर से बिलकुल ढक दे। जिससे की इनके अंदर का तापमान थोड़ा बढ़ जाए। इससे गुलाब के बीज जल्दी से उगाते है। अगर आप ढकना नहीं चाहते है, तो इससे बीजो को उगने में थोड़ा समय लग सकता है।

Step 5. समय समय पर अपने गुलाब के बीजो को पानी देते रहें। पानी देते समय याद रहें आपको बताई गयी प्रक्रियां के अनुसार ही पानी देना है। अगर आप इन बीजो को ऊपर से पानी देते है, तो यह बीज ख़राब हो जायेंगे। इन सभी प्रक्रियों से अगर आप गुलाब के बीज लगते है, तो इनमे से पौधा उगने में लगभग चार से पांच महीने लगते है। इस तरह से आप गुलाब के बीजो से पौधा ऊगा सकते है।

आलू में गुलाब का पौधा कैसे लगाएं

गुलाब की कलम को हम कई तरह से उगाते है। हमने गुलाब के पौधे को लगाने की दो विधि तो जान ली है। अब हम जानते है, की गुलाब का पौधा या कटिंग आलू में कैसे लगाया जाता है। इस विधि द्वारा गुलाब की कलम लगाने का सबसे बड़ा फायदा होता है, की कलम बहुत जल्दी जड़े पकड़ लेती है।, जानते है, गुलाब का पौधा आलू में लगाने की विधि –

Step 1. इसके लिए आपको सबसे पहले गुलाब की एक कलम बनानी है, जिसको 45 डिग्री पर काटना है। कलम के निचे की सभी शाखाएं आपको हटा देनी है। कलम की मोटाई लगभग पेन्सिल की बराबर होनी चाहिए।

Step 2. इसके बाद आपको एक आलू लेना है। आलू के अंदर किसी लकड़ी से इतना बड़ा छेद करना है, जितनी मोटी आपकी कलम है। आलू में छेद करने के बाद आप गुलाब की कलम को आलू के अंदर डाल दे।

Step 3. इसके बाद आप अगर गमले में यह पौधा लगा रहें है, तो उसकी मिटटी की अच्छी तरह से गुड़ाई कर ले। अगर जमीन में लगा रहें है, तो उसकी भी अच्छे से गुड़ाई कर लें।

Step 4. मिटटी की गुड़ाई करने के बाद आपको आलू को गमले में लगा देना है, आप लगभग एक इंच कलम को भी मिटटी में दबा दे। इससे जब आपका आलू गल जायेगा, तो कटिंग हिलेगी नहीं वह मिटटी के सहारे खड़ी रहेगी।

Step 5. पौधे को गमले में लगाने के बाद आपको इसके अंदर पानी डालना है। जब तक गुलाब की कलम से नई शाखाएं निकलना शुरू ना हो जाएँ तब तक इसकी अच्छे से देखभाल करें इसके अंदर नमी बनायें रखे। इस कलम से लगभग दो से तीन महीने में नई शाखाएं निकलना शुरू हो जाएंगी। इस तरह से आप गुलाब की कलम को आलू में लगा सकते है।

How to Care Rose Plant in Summer in Hindi

गुलाब के पौधे की देखभाल कैसे करें 

गुलाब के पौधे की सबसे ज्यादा देखभाल गर्मियों के दिनों में करनी चाहिए। इसके पौधे को गर्मी बिलकुल भी पसंद नहीं है। चाहे आपका पौधा देशी गुलाब का हो या इंग्लिश गुलाब का पौधा दोनों ही गर्मियों के दौरान सूखने लगते है। इनकी पत्तियां पीली पद जाता है। और सभी शाखाएं सूखने लगती है। लेकिन चिंता करने की कोई बात नहीं आज में आपको सभी ऐसी जानकारी देने वाला हूँ, जिससे की आपका सूखा हुआ गुलाब का पौधा भी फिर से हरा भरा हो जायेगा। तो चलिए जानते है, गुलाब के पौधे की देखभाल कैसे करें।

1. गर्मियों के दिनों में गुलाब के पौधे को सूखने से बचाने के लिए आपको अपने गमले को दोपहर के समय किसी ऐसी जगह पर रखना चाहिए जहाँ पर धुप बहुत कम आती हो।

2. अगर आपके यहाँ पर ऐसी कोई जगह नहीं है, तो आप अपने गमले को ग्रीन नेट के निचे भी रख सकते है। इससे भी आपके पौधे धुप से बचे रहते है।

3. गर्मियों के दिनों में गुलाब के पौधे के अंदर प्रत्येक दिन पानी देना चाहिए। इन दिनों आपके गमले की मिटटी सुखनी नहीं चाहिए। और सफ्ताह में एक बार आप अपने पौधे की गुडाई भी जरूर करें। इससे मिटटी को नई हवा मिलती है।

4. गर्मियों के दिनों में गुलाब को फंगस सबसे ज्यादा लगती है। आपको महीने में दो बार फंगस पाउडर का छिड़काब जरूर करना चाहिए। इससे पौधे की पत्तियां पीली नहीं पड़ती है।

5. गर्मियों के दिनों में कभी भी गुलाब के पौधे पर किसी भी तरह का केमिकल स्प्रे नहीं करना चाहिए। इससे पौधा जल जाता है। इन दिनों इसके ऊपर फूल नहीं आते है।

गुलाब के फूल और पौधे का आकर बढ़ाने के तरीके

गुलाब के पौधे पर ज्यादा फूल कैसे उगाएं – गुलाब के पौधे की के ऊपर से सभी मुर्झायें हुए फूलो को काट देना चाहिए। आपको फूलो को किसी चाकू से काटना चाहिए। इसके अलावा आपको अपने पौधे की समय समय पर प्रूनिंग करनी चाहिए। इसके लिए आप अपने पौधे के उस हिस्से को चुने जहाँ से पांच पातियाँ निकल रही है। ज्यादातर पौधे में तीन पत्तियां होती है।

आप अपने गुलाब के पौधे में एप्सन साल्ट और पोटास को मिलकर भी डाल सकते है। यह आपको एक छोटे गमले में एक चम्मच एप्सन साल्ट और आधा चम्मच पोटाश मिलकर गमले के किनारो पर डाल दे। इसके बढ़ गमले में पानी भर दे। यह आपके पौधे को स्वस्थ रखता है।

महीने में एक बार आप इस पौधे में वर्मीकम्पोस्ट खाद भी डालें। गुलाब के पौधे को जल्दी बढ़ाने के लिए, आप केले का इस्तेमाल कर सकते है। इससे आपके पौधे पर फूल भी बहुत अधिक मात्रा में लगते है।

आप चार या पांच केले के छिलके लेकर, इन्हे बारीक़ काट ले। इसके बढ़ इन सभी केले के छिलको को दो या तीन लीटर पानी में डालकर ऊपर से ढक दे, और दो दिन के लिए छोड़ दे। इसके बढ़ आप इस पानी से सभी सभी छिलके निकल ले, और इस पानी को एक गमले में लगभग 100 – 200 ML की मात्रा में डालें।

केले के अंदर मौजूद पोटेशियम आपके पौधे को एक आर्गेनिक खाद की तरह गुण देता है। इससे आपके पौधे पर फूलो का आकर भी बड़ा आता है। आप बचे हुए केले के छिलको को सुखाकर इन्हे भी बढ़ में गमले में डाल दे।

गुलाब के पौधे पर ज्यादा फूल कैसे लाएं वीडियो में देखें

Rowe Flower FAQ

गुलाब का फूल इतना खास क्यों है?

गुलाब का फूल अपने रंगो के महत्त्व के लिए सबसे ज्यादा लोक्रपिय और ख़ास होता है। लाल गुलाब प्यार का प्रतिक होता है। इसी तरह से पीला दोस्ती, नारंगी उत्साह, और सफ़ेद गुलाब ख़ुशी और पवित्रता का प्रतिक होता है।

गुलाब को रोज क्यों कहा जाता है?

गुलाब का अंग्रेजी नाम रोज है, यह शब्द लेटिन भाषा के रोज़ा शब्द से लिया गया है। गुलाब एक प्रकार का झाड़ी वाला पौधा है। और यह अनेक रंगो के फूल प्रदान करता है।

क्या गुलाब के पौधे को ज्यादा पानी की आवश्यकता होती है?

गुलाब के पौधे को पानी उसके तापमान, जलवायु, और मिटटी पर निर्भर करता है। अगर पौधा समशीतोष्ण जलवायु में लगाया गया है, तो इसको सफ्ताह में एक बार पानी की आवश्यकता होती है। अगर पौधे की मिटटी रेतीली है, और जलवायु शुष्क है, तो ऐसे में प्रत्येक दिन पौधे को पानी देना चाहिए।

क्या गुलाब को पूर्ण धुप की आवश्यकता होती है?

यह कोई निश्चित नहीं है, लेकिन हां गुलाब के पौधे को न्यूनतम चार घंटे की धुप जरूर मिलनी चाहिए। हालाँकि कुछ गुलाब की प्रजाति ऐसी भी है, जो की छाया में भी अच्छी तरह से उगती है।

गुलाब का उपयोग क्या है?

गुलाब का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है, सबसे ज्यादा इसका उपयोग सुगन्धित इत्र बनाने के लिए किया जाता है। इसके आलावा इससे कई सौन्दर्य उप्ताद भी बनाये जाते है। गुलाब के फूल से इसका रस भी निकला जाता है, जिसे गुलाब जल कहा जाता है। यह भी कई प्रकार से फायदेमंद होता है।

क्या गुलाब जल त्वचा को गोरा करता है?

गुलाब जल त्वचा को साफ़ करता है, गुलाब जल की कुछ बूंदो को लेकर चेहरे पर लगाए और लगभग 4 से 5 मिनट बाद ठन्डे पानी से धो लें। इससे आपकी साफ़ रहेगी और यह त्वचा की गंदगी को निकलकर त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here