घर बैठे महिलाओं के लिए काम | घर बैठे गरीब महिलाओं के लिए काम

0
Ghar Baithe Mahilao Ke Liye Kaam

घर बैठे महिलाओं के लिए काम : इस लेख में हम घर बैठे महिलाओं के लिए काम के तरीको के बारे में जानेगे। यहाँ पर हम घर बैठे गरीब महिलाओं के लिए काम के बारे में जानेगे। यहाँ पर हम बहुत सारे ऐसी काम या छोटे बिज़नेस के बारे में जानेगे। जिन्हे सभी महिलाएं घर बैठे आराम से कर सकती है। जो महिलाये पढ़ी लिखी है, उनके लिए यहाँ पर बहुत सारे तरिके है।

जिन्हे वह अच्छी तरह से समझकर काम कर सकती है। पढ़ी लिखी महिलों के लिए घर बैठे लिखने का काम भी बहुत आसानी से मिल जाता है। अगर आप पढ़ी लिखी नहीं है, तो भी आपको यहाँ पर काम करने का तरीका मिल जाएगा। क्योकिं हमने यह लेख सभी महिलाओं को ध्यान में रखते हुई लिखा है।

अब महिलाओं को समाज में अबला और कमजोर नहीं बल्कि अपराजिता कहा जाता है। जिंदगी में स्त्रियों के वाजिब हकों पर हर तरफ बहस ज़ारी है। आज नारी-सशक्तिकरण और यहां तक कि नारी-मुक्ति के लिये बहुत सारे प्रयास अलग-अलग स्तर पर किये जा रहे हैं।

हालांकि नारियों को आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाये बिना नारी-मुक्ति की या उनके हकों की बात करना भी बेमानी है। क्योंकि आर्थिक स्वावलंबन के बगैर निजी स्वतंत्रता की बात भी करना महज एक छलावा ही है। और सच्चाई तो यह है कि आंकड़ों के मुताबिक आज भी देश की करीब सत्तर फीसदी महिला आबादी गरीबों की श्रेणी में आती है।

इसीलिये आज की हर नारी को सजग, शिक्षित, अपने अधिकारों को लेकर जागरूक और आर्थिक रूप से स्वावलंबी होना जरूरी हो गया है। अब इसके लिये उन्हें खुद आगे आकर पहल करनी होगी। यहां हम ऐसे कुछ काम और उनके कुछ नये आइडियाज़ के ही बारे में बात करने जा रहे हैं जिससे एक गरीब महिला भी आर्थिक तौर पर आत्मनिर्भर बन सकती है। जिनके बारे में हमने निचे के लिए में विस्तार से आपको बताया है, आइये जानते है, घर बैठे महिलाओं के लिए काम –

महिलाओं के लिए घर बैठे जॉब 2022

1. सिलाई-कढ़ाई का काम 

Silai Kadhai Ka Kaam

भारत की महिलाओं के लिये यह सबसे अनुकूलतम यानी गृहस्थी के समानांतर सहजता से चल सकने वाला काम है। कपड़ों की सिलाई कराने की जरूरत हर कहीं और हर किसी को होती है। इसी तरह साड़ियों वगैरह पर पीको, फाल वह कढ़ाई करने का काम भी हर कहीं मिल जाता है। वहीं, इस काम को गरीब महिलाएं आपसी समूह बनाकर और भी बेहतर ढंग से कर सकती हैं।

गरीब महिलायें सिलाई-कढ़ाई का काम कम पूंजी में अपने घर से ही शुरू कर सकती हैं। इसमें लगने वाले धागे-बटन आदि कच्चे माल या फिर मशीन के रखरखाव वगैरह की लागत भी कोई बहुत अधिक नहीं पड़ती। और घर-परिवार से समय निकालकर आम महिलाएं इसे पार्ट-टाइम में भी कर सकती हैं। साथ ही सबसे बढ़कर ये कि सिलाई-कढ़ाई के काम से महिलाओं को अच्छी आय हो सकती है, और इस तरह वे आत्मनिर्भर बन सकती हैं।

2. कोचिंग क्लासेज़ चलाना 

Online Coaching

अगर आप पढ़ी-लिखी हैं तो आपको काम ढूंढ़ने कहीं जाने की जरूरत नहीं। आप घर बैठे बच्चों को पढ़ाने के लिये ट्यूशन अथवा कोचिंग क्लासेज़ चला सकती हैं। आजकल हर अभिभावक को अपने बच्चों के लिये एक जानकार तथा शरीफ़ टीचर की तलाश रहती है। और इस कसौटी पर एक पढ़ी-लिखी महिला पूरी तरह खरी उतरती है। इसके अलावा ट्यूशन अथवा कोचिंग के इस काम में कोई लागत भी नहीं लगती।

अगर आप भी पढ़-लिखकर घर बैठी हैं, और कुछ करना चाहती हैं, तो आज से ही ट्यूशन अथवा कोचिंग क्लासेज़ के बारे में सोचना शुरू कर दें। इसमें अच्छी-खासी आय तो होती ही है, साथ ही इज्जत भी मिलती है। इसके अलावा कोचिंग क्लासेज़ जैसे कामों में आपकी जानकारी भी अपडेट होती रहती है। होम ट्यूटर का काम करके शुरू-शुरू में एक महिला दस-बारह हजार रूपए आराम से कमा सकती है।

3. ब्यूटी पार्लर का काम 

Beauty Parlour

आजकल सुंदरता भी जैसे बाजार में खरीदी जा सकने वाली कोई चीज हो गई है। सौंदर्य बढ़ाने से संबंधित चीजों का बाजार बहुत बड़ा है। इसीलिये आज ब्यूटी पार्लर का काम भी महिलाओं के लिये खास है। जिसे गरीब महिलाएं भी आसानी से कर सकती हैं। इसकी विधिवत पढ़ाई और कोर्स भी उपलब्ध है।

जिसे करने के बाद आप ब्यूटी पार्लर के कामों में पारंगत हो जाती हैं। इसके बाद अगर आप ब्यूटी पार्लर की शॉप अपने घर, गली या फिर नुक्कड़ पर कहीं भी खोल कर बैठ जाती हैं तो इससे आपकी अच्छी-खासी इनकम शुरू हो सकती है। इसमें आप आने वाली महिलाओं का मेकअप वगैरह करने के अलावा सीखने की इच्छुक नई महिलाओं या लड़कियों को ब्यूटी पार्लर चलाने के गुर भी सिखा सकती हैं।

लोगों को खाने का टिफिन सप्लाई करने का काम आजकल दिल्ली-मुंबई जैसी मेट्रोपोलिटन सिटीज़ से लेकर छोटे-छोटे शहरों तक फ़ैल चुका है। यह कम पूंजी में और घर पर ही रहकर किया जा सकने वाला ऐसा काम है जिसे कोई भी महिला आराम से कर सकती है। टिफिन सर्विस के लिये मुंबई की एक सेवा तो आज विश्वविख्यात हो चुकी है, और उस पर ‘लंच बॉक्स’ नाम से फिल्म भी बन चुकी है।

आजकल की भागदौड़ भरी जीवनशैली में नौकरीपेशा और दूसरे कामकाजी लोग अक्सर घर से दूर अकेले रहते हैं, या कहीं-कहीं स्त्री-पुरुष दोनों को ही काम पर जाना पड़ता है। या फिर ऐसे कार्यशील लोगों के पास खाना बनाने को पर्याप्त समय ही नहीं बचता। ऐसी परिस्थितियों में उन्हें लंच और डिनर के लिये सौ-दो सौ रुपए रोज की दर में टिफिन-सर्विस लेना ज़रा भी नहीं अखरता।

टिफिन सर्विस खासकर गरीब महिलाओं के लिये एक बेहतर काम माना जाता है। क्योंकि टिफिन सर्विस काम शुरू करने के लिये एक महिला को ज्यादा पूंजी वगैरह की व्यवस्था भी नहीं करनी होती। यह काम घर से ही शुरू किया जा सकता है। बस कुछेक टिफिन खरीदने होते हैं।

शुरू में घर पर ही खाना बनाकर टिफिन सर्विस का काम शुरू किया जा सकता है। यदि टिफिन सप्लाई करने का बाहरी काम घर का कोई लड़का या पुरुष सदस्य संभाल ले तो सिर्फ़ घर के अंदर का खाना बनाने व पैक करने वाला काम शेष रह जाता है, जिसे कोई भी महिला एकल अथवा सामूहिक रूप से कर सकती है।

अपनी जनसंपर्क कुशलता के अनुसार इस काम को बहुत विस्तार दिया जा सकता है। इससे एक महिला न केवल खुद आत्मनिर्भर बनती है, बल्कि अपने साथ दूसरी तमाम महिलाओं को भी आत्मनिर्भर बनने में मदद कर सकती है। गरीब महिलाएं घर बैठे यह काम बिल्कुल सहजता से कर सकती हैं।

4. घर पर खाना बनाने का काम 

Ghar Par Khana Banane Ka Kaam

दूसरों के घर पर जाकर खाना बनाने का काम करके कोई भी गरीब महिला अकेले आसानी से हजारों रूपए प्रतिमाह कमा सकती है। आजकल शहरों में इस काम का बहुत प्रचलन है। ज्यादा पैसे वाले लोगों के पास या तो वक़्त नहीं है या फिर वो काम नहीं करना चाहते। यही कारण है कि आज खासकर शहरों में हर दूसरे तीसरे घर में आपको ‘कामवाली’ घर के करीब-करीब सारे काम करती हुई मिल जायेगी।

जो एक-एक घर से हजारों रूपए हर महीने पाती है। लोगों के घरों में जाकर खाना बनाने का काम करने के लिये आपको पढ़ी-लिखी होने की भी कोई जरूरत नहीं होती। बस आपको खाना बनाने की कला अच्छी तरह आनी चाहिये। इस काम से गरीब महिलाएं भी आसानी के साथ स्वावलंबी बन सकती हैं।

5. कपड़ों को धुलने और इस्त्री करने का काम 

Kapdo Par Press Karne Ka Kaam

कपड़ों की धुलाई और उन्हें प्रेस करने का चार्ज अब काफी महंगा हो गया है। लिहाज़ा यह काम भी काफी अच्छा मुनाफा देने वाला हो गया है। इसके अलावा एक गरीब महिला भी इस काम को ज्यादातर समय घर पर ही रहकर आसानी के साथ संभाल सकती है। क्योंकि शुरू में इस काम में कोई बहुत पूंजी भी नहीं लगती।

कपड़ों को धुलने और प्रेस करने का काम करते हुए आप आगे लॉन्ड्री-शॉप खोलने की भी सोच सकती हैं। जो आपके घर के आसपास गली या नुक्कड़ पर भी खोली जा सकती है। फिर आपकी कमाई भी बढ़ जाती है।

6. हाउसकीपिंग का काम 

Housekeeping

घर के रोजमर्रा के तमाम कामकाज और खासतौर से साफ-सफाई वगैरह सब ‘हाउस-कीपिंग’ के अंतर्गत आते हैं। तो अगर कोई महिला घर या किसी व्यावसायिक बिल्डिंग की सफाई ढंग से कर सकती है, तो हाउस-क्लीनिंग या हाउस-कीपिंग का क्षेत्र उसके लिये खुला हुआ है। क्योंकि हाउस-कीपिंग जैसे काम बिना लागत के शुरू किये जा सकते हैं, इसलिये इसे गरीब से गरीब महिला भी कर सकती है। इसमें आगे बढ़ने की भी अपार संभावनाएं मौजूद हैं।

मालूम हो कि आज बड़े-बड़े व्यावसायिक प्रतिष्ठान और फ़ाइव-स्टार होटलों में भी साफ सफाई आदि कामों को देखने के लिये हाउस-कीपिंग स्टाफ़ मौजूद होता है। सो, इस क्षेत्र में भी संभावनाएं अपार हैं। इसके अलावा आपका अपने क्लाइंट्स व अन्य लोगों से अच्छा व्यवहार और जनसंपर्क की कुशलता का गुण इस व्यवसाय में भी काफी उपयोगी साबित हो सकता है।

7. अचार बनाने का काम 

Aachar Banane Ka Kaam

अचार बनाने का काम भी एक ऐसा अच्छा मुनाफा देने वाला काम है जिसे गरीब महिलाएं बहुत ही कम लागत के साथ शुरू करके आगे अच्छा पैसा कमा सकती हैं। अचार घर-घर में उपयोग की जाने वाली चीजों में से एक है। इस क्षेत्र में भी काम करते हुये काफी आगे निकल जाने की तमाम संभावनायें मौजूद हैं।

अचार बनाने का काम कोई भी महिला अपने घर से शुरू कर सकती है। और अगर आपके प्रोडक्ट्स बेहतर रहे, यानी आपके अचार अच्छे और टेस्टी बने, तो आगे धीरे-धीरे आपका काम खुद ब खुद बढ़ता जायेगा। क्योंकि अच्छी चीजों की मांग बाजार में हमेशा मौजूद रहती है।

इसके लिये अच्छा अचार बनाने की विधियां आप किसी जानकार या किताबों और यूट्यूब से भी सीख सकती हैं। अपने बनाते अचारों की बिक्री के लिये शुरुआत में आप अपने आसपास की किराने की दुकानों और होटलों में भी संपर्क कर सकती हैं। और इस तरह अचार बनाने के काम से आप शुरुआती दौर में ही दस-बारह हजार प्रतिमाह कमा सकती हैं।

8. पापड़ बनाकर बेचने का काम 

Papad Bechne Ka Kaam

पापड़ बनाकर बेचना भी किसी भी गरीब महिला के लिये एक बेहतर काम हो सकता है। जिसमें ज्यादा पूंजी निवेश करने की भी जरूरत नहीं होती। और पापड़ घर-घर में प्रयोग होता है। इसलिये शुरुआती दौर में बने हुए पापड़ों की बिक्री के लिये आपको ज्यादा भटकना भी नहीं पड़ेगा। यह आपके आसपास के किराना अथवा किसी डिपार्टमेंटल स्टोर पर ही बिक सकता है।

9. बागवानी का काम

Baagwaani Ka Kaam

बागवानी आपका शौक भी हो सकता है; लेकिन आप इसे अपनी अच्छी-खासी आय का एक स्रोत भी बना सकती हैं। इस काम के लिये आपको फूलों, औषधियों आदि के पौधों की समुचित देखभाल करनी आनी चाहिये। फिर यह काम आप अपने लिये भी कर सकती हैं, और दूसरों के लिये भी। यानी आप दूसरों के बाग-बगीचे की देखभाल करके भी अच्छे पैसे पा सकती हैं, और अपनी खुद की नर्सरी विकसित करके पौधों को बेचकर भी अच्छी आमदनी कमा सकती हैं।

आजकल की बदलती जीवनशैली और प्रदूषण से सेहत व पर्यावरण से जुड़ी तमाम दिक्कतें दिनोंदिन बढ़ती ही जा रही हैं। ऐसे में तरह-तरह की औषधियों, फूलों व दूसरे पौधों की मांग हर तरफ रोज बढ़ती ही जा रही है। आज लोगबाग कोरोना जैसे संक्रामक रोगों में तुलसी का, या फिर डेंगू जैसे घातक बुखार में प्लेटलेट्स की कमी होने पर गिलोय जैसी औषधियों का महत्व बखूबी समझने लगे हैं। इसलिये तमाम औषधीय पौधों को अपने गमले, लॉन या बगीचे में लगाना आजकल व्यापक हो गया है।

इसलिये तरह-तरह की औषधियों और फूलों के पौधों का व्यवसाय काफी मुनाफे वाला होता जा रहा है। यहां तक कि शुरुआत में ही आप इससे दस-बीस हजार रूपए प्रतिमाह कमा सकती हैं। दूसरी तरफ नर्सरी अथवा पेड़-पौधों का व्यवसाय शुरू करने में कोई बहुत बड़ी पूंजी की भी जरूरत नहीं होती। या फिर, अगर आपको बागवानी से संबंधित जानकारी है तो आप किसी और को अपनी सेवाएं देकर भी अच्छी आमदनी कर सकती हैं।

आजकल शिक्षण संस्थानों में बागवानी और पौधशाला विज्ञान के तमाम कोर्स भी संचालित किये जाते हैं। जिनमें पेड़-पौधों के रखरखाव और उन्हें खाद-पानी देने के गुर सिखाए जाते हैं। हालांकि इसका काफीकुछ ज्ञान आप किताबों व यूट्यूब से भी पा सकते हैं। जिसमें बताया जाता है कि किसी पौधे की देखभाल कैसे करें! इसलिये बागवानी का काम करने से पहले अगर हम ये सारी जानकारियां रखते हैं तो काम कहीं बेहतर ढंग से कर सकते हैं।

10. कॉटन की बत्ती बनाने का काम 

Cotton Ki Batti Banane Ka Kaam

हम पूजा-उपासना आदि कामों में, या फिर आने वाली दीपावली जैसे त्योहारों पर घी अथवा तेल का दीया जलाते हैं, और इसके लिये रुई की बत्ती का इस्तेमाल करते हैं। रुई की इन बत्तियों को बहुधा गांधी आश्रम या अन्य एकल व कुटीर उद्योग में लगी महिलायें ही बनाती हैं, और प्रतिमाह अच्छी आमदनी कर लेती हैं।

रुई या कॉटन की बत्ती बनाना ऐसा काम है जिसे कोई गरीब महिला भी घर बैठे बिल्कुल न के बराबर लागत से शुरू कर सकती है। आगे होने वाले मुनाफे से रुई की बत्ती बनाने वाली एक हस्तचालित छोटी मशीन या चरखी भी लाई जा सकती है। इस व्यवसाय का स्कोप भी काफी विस्तृत है।

11. स्वेटर बुनने का काम 

Swetar Bunai Ka Kaam

यह एक ऐसा काम है जिसे कोई भी महिला बिना किसी लागत के शुरू कर सकती है। बस उसे स्वेटर बुनने की कला आनी चाहिये; साथ ही अगर उसमें तरह-तरह की डिजाइनें बना सकती हैं तो और भी बेहतर। आप बाजार से ऊन खरीदकर और अपने हाथों से स्वेटर बुनकर वापस बाजार में बेच सकती हैं। हाथ से बुने स्वेटर आजकल काफी ट्रेंडिंग में हैं, सो मार्केट में इनकी डिमांड भी बढ़ती जा रही है।

काम बढ़ने और पर्याप्त आय हो जाने पर आप स्वेटर बुनने की छोटी मशीनें भी ला सकती हैं। जिससे इस काम में आपका प्रोडक्शन यानी उत्पादन काफी बढ़ जाता है; पहले से कहीं ज्यादा और बेहतर स्वेटर तैयार होने लगते हैं। और इस तरह उत्पादन बढ़ने से आय भी बढ़ती है। इस तरह देखा जाये तो स्वेटर बनाने का व्यवसाय भी गरीब महिलाओं के लिये एक अच्छा काम है।

इन स्वरोजगार वाले कामों के अलावा आज के समय में तमाम महिलाएं कंप्यूटर, मोबाइल या इंटरनेट के माध्यम से घर बैठे अच्छा पैसा कमा रही हैं। इसके लिये बस थोड़ी जानकारी की जरूरत होती है। इन कामों को कोई भी महिला केवल एक लैपटॉप या फिर स्मार्टफोन के सहारे कर सकती है। ब्लॉग लेखन, स्वतंत्र लेखन, एफिलिएट मार्केटिंग, यूट्यूब और ‘कॉन्टेंट राइटिंग’ या कहें सामग्री-लेखन के काम ऐसे ही होते हैं। तो आइये एक-एक कर इनकी चर्चा करते हैं।

12. ब्लॉगिंग 

Blogging Ka Kaam

अगर आप एक पढ़ी लिखी महिला है, तो आप ब्लॉगिंग यानी ब्लॉग लेखन से आप बिना किसी पूंजी के घर बैठे अच्छा पैसा कमा सकती हैं। अगर आप किसी विषय पर गहरा ज्ञान रखती हैं तो उससे संबंधित लेखों को अपने ब्लॉग पर डालिये। इस काम को आप खाली वक़्त में किसी मोबाइल फोन से भी कर सकती हैं। हालाकिं ब्लॉग्गिंग के लिए आपको बहुत सी चीजों के बारे में भी जानना पड़ेगा।

क्योकिं ब्लॉग्गिंग करने के लिए आपको सबसे पहले SEO के बारे में जानना बहुत जरुरी है। इसके लिए आप यह लेख पढ़ सकते है SEO क्या है? इस लेख को पढ़ने के बाद आप अपनी ब्लॉग्गिंग को शुरू कर सकते है। ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाने के लिए आपको सबसे पहले एक ब्लॉग बनाना होता है, उसके बाद इस ब्लॉग को Google AdSense के साथ जोड़कर अप्रूवल करना होता है।

जब आपको गूगल एडसेंस से अप्रूवल मिल जाता है, तो इसके बाद आपको अपने ब्लॉग पर कंटेंट पब्लिश्ड करते जाना है। जैसे जैसे आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ता है, आपकी इनकम भी बढ़ती जाती है।

13. एफिलिएट मार्केटिंग 

Affiliate Marketing

एफिलिएट मार्केटिंग भी इंटरनेट से पैसे कमाने का एक बहुत ही अच्छा तरीका है। अगर आप एक पढ़ी लिखी महिला है, और आपको थोड़ी भी इंटनरेट चलने की जानकारी है। तो आप आसानी से एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में समझ सकती है। इस काम में आपको किसी प्रोडक्ट यानी उत्पाद की बिक्री को अपने संपर्कों के जरिये प्रॅमोट करना होता है। इस तरह आपके द्वारा शेयर किये गये लिंक्स को जो भी बिक्री यानी सेल की जायेगी उस पर आपका अच्छा कमीशन बनेगा।

एफिलिएट मार्केटिंग का काम करने के लिये आपको इंटरनेट का थोड़ा-बहुत ज्ञान होना आवश्यक है। साथ ही अगर आपको मार्केटिंग की भी कुछ जानकारी है तो एफिलिएट मार्केटिंग आपके लिये सबसे अच्छे रोजगार के विकल्पों में से एक है। इसके लिये आपको चाहिये बस एक स्मार्टफोन और थोड़ा-बहुत इंटरनेट का ज्ञान।

अगर आपको एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में बिलकुल भी जानकारी नहीं है, तो आप इस लेख को पूरा पढ़ें एफिलिएट मार्केटिंग क्या है इस लेख में आपको सभी जानकारी मिल जायेगी। और इस लेख में एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कमाने वाली वेबसाइट के बारे में भी बताया गया है।

14. कॉन्टेंट राइटिंग या सामग्री लेखन का काम 

Content Writing

कॉन्टेंट लेखन का क्षेत्र बहुत व्यापक है। इसमें हर तरह का लेखन आ जाता है। इस काम में अक्सर आपको प्रति शब्द की दर से भुगतान किया जाता है। फिर लेखन की सामग्री भी तरह-तरह की होती है। इसलिये आपको कॉन्टेंट राइटिंग के क्षेत्र में हाथ आजमाने से पहले यह देख लेना चाहिये कि आप किस तरह का लेखन कर सकती हैं।

अगर आप अच्छा लिखते हैं तो समय के साथ आपके काम कीमत बढ़ती जाती है। यानी प्रति शब्द अथवा प्रति कार्य भुगतान की दर बढ़ती जाती है। इस तरह कॉन्टेंट लेखन या स्वतंत्र लेखन से आप सैकड़ों ही नहीं हजारों रूपए रोजाना पा सकती हैं। फाइबर, अपवर्क, ई लांस आदि कुछ ऐसी वेबसाइट हैं जो स्वतंत्र या कॉन्टेंट लेखन के लिये काफी मददगार साबित हो सकती हैं।

अगर आपको कंटेंट लिखना आता है, तो आप फेसबुक पर भी कुछ कंटेंट राइटिंग के ग्रुप को ज्वाइन कर सकते है। अगर आपको इस क्षेत्र में आगे जाना है, तो आपको शुरुआत में सभी को अपनी कंटेंट राइटिंग दिखानी चाहिए। क्योकिं जब तक कोई आपकी लिखने की स्किल्स को नहीं देखेगा, तब तक आपको कम मिलना थोड़ा मुश्किल होता है। अगर आप जानना चाहते है, कंटेंट राइटर की जरुरत किन क्षेत्रों में पड़ती है, तो आप इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें : Content Marketing क्या है

15. यूट्यूब चैनल 

YouTube Channel

अगर आप एक आम गृहिणी हैं, और बिना किसी पूंजी निवेश के कुछ रचनात्मक कार्य करना चाहती हैं जिससे आपको कुछ आय भी हो सके, तो यूट्यूब चैनल बनाकर अच्छी आमदनी कर सकती हैं। यह काम कोई गरीब महिला भी बहुत आसानी से कर सकती है। इसके लिये आपको कोई बहुत पढ़ी-लिखी होना भी जरूरी नहीं। इसके लिये बस आपको यूट्यूब वीडियो अपलोड करना आना चाहिये।

यूट्यूब पर तरह-तरह के वीडियो उपलब्ध होते हैं। यहां पर ‘व्यूज़’ के हिसाब से पैसे मिलते हैं। यानी आपका यूट्यूब वीडियो कितनी बार क्लिक किया गया और कुल कितनी देर तक उसे देखा गया, इस पर ही आपकी उस यूट्यूब वीडियो के जरिये होने वाली कमाई निर्भर करती है। इसलिये यूट्यूब पर अपलोड करने के लिये सामग्री का चयन काफी सावधानी से करना होता है।

इसलिये यूट्यूब वीडियो अपलोड करने से पहले आपको यह देखने की ज़रूरत होती है कि उस विषय से संबंधित कितनी सामग्रियां पहले से यूट्यूब पर मौजूद हैं! उन्हें कितना देखा गया है! उस विषय से संबंधित कोई यूट्यूब वीडियो बाकी सबसे ज्यादा क्यों देखा गया! दूसरी तरफ, इसी विषय पर बना कोई वीडियो अगर बहुत कम देखा गया तो इसकी क्या वजह रही! इन सब पहलुओं को ध्यान में रखते हुये अगर आप कोई ‘ट्रेंडिंग एंड डिमांडिंग’ यूट्यूब वीडियो बनाकर अपलोड करती हैं, तो उसके लोकप्रिय होने की संभावना अधिक होती है।

अब तक चर्चा की गई चीजों के अलावा भी घर बैठे गरीब महिलाओं के लिये काम की कहीं कोई कमी नहीं है। इन कामों में – घर पर कागज के लिफाफे व थैलियां बनाना, चिप्स या चॉकलेट और बिस्कुट बनाना, सैनिटेरी पैड बनाना, गुलदस्ते बनाना, मोमबत्ती या अगरबत्ती निर्माण जैसे तमाम कार्य आते हैं। जिससे एक महिला आर्थिक आय व स्वावलंबन पा सकती है।

हम जानते हैं कि किसी काम को करने से पहले उसकी हमें जितनी ही अच्छी जानकारी होती है, उस काम में हमारी तरक्की की उतनी ही संभावना होती है। इसलिये कोई भी उद्यम शुरू करने से पहले उसके बारे में यथासंभव सभी स्रोतों से समुचित जानकारी हासिल कर लें। इससे आपको व्यवसाय की रणनीति बनाने में काफी सहूलियत मिलेगी।

साथ ही, अपने काम और मार्केट की समुचित जानकारी होने के बाद जब कोई काम शुरू करें तो उससे लक्षित आय पाने के लिये धैर्य से कुछ दिन इंतज़ार करें। क्योंकि हर काम अपने समय से ही होगा। लेकिन इसमें शक नहीं कि अगर कोई गरीब महिला घर बैठे कुछ कमाना चाहती है, और इसके लिये लगन के साथ कुछ करने को तैयार है, तो उसके लिये अब कामों की कोई कमी नहीं है।

अगर आपको बिलकुल भी पढ़ना नहीं आता है, और आपको किसी भी कार्य को करने में महारत हासिल है, चाहे वह खाना बनाना हो या फिर कोई और कार्य तो भी आप यूट्यूब चैनल बनाकर पैसे कमा सकती है। हालाकिं आपको यूट्यूब के लिए थोड़ी वीडियो एडिटिंग की आवश्यकता पड़ेगी। आप चाहे तो वीडियो एडिट करना यूट्यूब से भी सीख सकते है , या फिर अपने परिवार में किसी भी बच्चे से वीडियो एडिटिंग करवा सकते है। आज कल छोटे छोटे बच्चे भी Instagram पर वीडियो एडिट करके उपलोड करते रहते है।

अगर आपको जानना है, की यूट्यूब से किस तरह से पैसे कमाए जा सकते है। तो आप एहल लेख जरूर पढ़ें। जिसमे आपको यूट्यूब से पैसे कमाने के बहुत सारे तरीको के बारे में बताया है : यूट्यूब से पैसे कैसे कमाए

Note – गूगल पर सबसे ज्यादा पूछे जाने वाले सवालों में से एक है, घर बैठे महिलाओं के लिए काम बताइए? इस लेख में हमने महिलाओं के लिए बहुत सारे ऐसे काम बताएं है, जिन्हे पढ़ी लिखी लेडिस या महिलाएं भी कर सकती है। और जो महिलाएं पढ़ी लिखी नहीं है, उनके लिए भी यहाँ पर बहुत सारे काम है। अगर आपका इस लेख से सबंधित कोई भी सवाल है, तो आप हमें हमारी ईमेल आईडी पर मेल करके या कमेंट करके बता सकते है। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा, तो कृपया इस लेख को अपने सभी परिवार वालों और अन्य लोगो के साथ जरूर शेयर करें, धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here