Engineer कैसे बने? इंजीनियरिंग क्या है और इंजीनियर बनने के लिए क्या करें

0
Engineer Kaise Bane in Hindi

Engineer कैसे बने? यह प्रत्येक छात्र का सवाल होता है, जब वह एक छोटी क्लास में होता है। ज्यादातर बच्चे बड़े होकर इंजीनियरिंग करके इंजीनियर बनना चाहते है। अगर आपका भी यही सवाल है, की इंजीनियर कैसे बने और इंजीनियर बनने के लिए कौन सा कोर्स करना होगा, तो आपको इस लेख में सभी महत्वपूर्ण जानकारी मिलने वाली है।

अगर आप भी बचपन से इंजीनियरिंग करने का सपना देख रहे है, और बड़े होकर इंजीनियर बनना चाहते है, तो आपको बचपन से ही इसकी तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। आपको 10th Class से ही Physics, Chemistry और Mathematics सब्जेक्ट को चुनना चाहिए। और आगे भी आपको इन्ही सब्जेक्ट को लेकर चलना चाहिए।

इसके अलावा और भी कई Subject में आप इंजीनियरिंग कर सकते है, जिसके बारे में आपको निचे पुरे विस्तार से बताने वाले है। इससे पहले हम जाने लेते है, Engineering क्या है, इंजीनियर कैसे बने और इंजीनियर बनने के लिए क्या किया जाता है, और भी कई महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में –

इंजीनियरिंग क्या है | What Is Engineering in Hindi

इंजीनियरिंग एक प्रकार का Course होता है, जो की 12वीं के बाद किया जा सकता है। जब आप 12th Class पास कर लेते है, तो आपको बी.टेक की पढाई करनी होती है, जो की 3 साल की होती है। जब आप B Tech कर लेते है, तो आपको इसके बाद M Tech भी करना होता है। इसके बाद जिस भी Subject में आपको ज्यादा रूचि होती है, तो आप उस सब्जेक्ट में पी.एच.डी करनी होती है, इसके बाद आप एक सफल इंजीनियर कहलाये जाते है। आपके पास यहाँ तक आने के लिए बहुत सारा अनुभव हो जाता है। तो आप समझ गए होंगे की इंजीनियरिंग क्या है।

इंजीनियरिंग कितने प्रकार की होती है

छात्र इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है, लेकिन उन्हें एक समस्या होती है, की वह किस सब्जेक्ट से इंजीनियरिंग करें। तो इस सवाल का जबाब पाने के लिए आपको यह जाना बहुत जरुरी है, की इंजीनियरिंग कितने प्रकार की होती है (What Are the Types of Engineering) जब आप Engineering के सभी प्रकार के बारे में जान लेते है, तो आप बहुत आसानी से अपने करियर के बारे में फैसला ले सकते है। तो आइये जानते है, Types of Engineering in Hindi –

1. Electrical Engineering

सबसे ज्यादा लोग Electrical Engineering करना पसंद करते है, क्या आपको पता है, Electrical Engineering क्या है, तो आइये जानते है, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग करने की सबसे बड़ी वजह से इसका बढ़ता स्कोप जैसे जैसे नई टेक्नोलॉजी आयी है, वैसे ही इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग का भविष्य भी बढ़ा है। क्योकिं इलेक्ट्रिकल का उपयोग सभी छोटी बड़ी चीजों में होता है, चाहे वह आपका घर हो या फिर कोई भी कंपनी। अगर नासा भी कोई Satellite Lounch करता है, तो उसमे वैज्ञानिको के साथ साथ कई बड़े Electrical Engineering का सहयोग होता है। अगर आप इस क्षेत्र से अपनी Engineering की पढाई पूरी करते है, तो आपके पास जॉब के बहुत सारे विकल्प है।

2. Mechanical Engineering

जैसा की इसमें नाम से ही पता चलता है, की मैकेनिकल इंजीनियरिंग क्या है? मैकेनिकल इंजीनियरिंग में मशीनों का अध्ययन किया जाता है। अगर आपको मशीनों से प्यार है, और आप नई नई मशीने बनाना पसंद करते है, तो आपको मैकेनिकल इंजीनियरिंग का विकल्प चुनना चाहिए। यह आपके करियर के लिए एक बेहतर विकल्प है।

3. Civil Engineering

सिविल इंजीनियर क्या है? आपको बता दें, की सिविल इंजीनियर आमतौर पर सरकार के अंतर्गत कार्य करते है, जितने भी सरकारी कार्य होते है, जैसे सरकारी अस्पताल, सरकारी स्कूल और सड़के आदि सभी की जिम्मेदारी सरकार सिविल इंजीनियर को देती है। अगर आप एक सिविल इंजीनियर बनना चाहते है, तो आपको Physics, Chemistry, Maths से पढ़ाई करनी चाहिए।

4. Computer Engineering

कंप्यूटर इंजीनियरिंग में आज के समय में बहुत ज्यादा स्कोप है। अगर आप को कंप्यूटर के क्षेत्र में पढ़ना अच्छा लगता है, तो आपको Computer Engineering की तैयारी करनी चाहिए। इससे पहले आपको कंप्यूटर क्या है इसके बारे में जरूर जान लेना चाहिए। Computer Engineering करने के लिए आपकी अंग्रेजी बहुत अच्छी होनी चाहिये। इसके लिए आपको 12वीं के बाद Computer Science में डिग्री करनी चाहिए।

5. Petroleum Engineering

Petroleum Engineering Course के बारे में बहुत कम लोग जानते है। अगर आप एक अलग कोर्स करना चाहते है, थोड़ा हटकर तो आप Petroleum Engineering का विकल्प चुन सकते है, इसके अंतर्गत भूवैज्ञानिक डेटा विश्लेषण का अध्ययन कराया जाता है। जिसमे इंजीनियर को जमीन के निचे से पेट्रोल को सही तरीके से पेट्रोलियम में डलवाना होता है। इसके अलावा और भी कई प्रकार की पेट्रोलियम Information आपको इस Course के अंतर्गत दी जाती है।

6. Ocean Engineering

अगर आपको समुन्द्र पसंद है, और आप समुन्द्र में घूमना चाहते है, तो आपके लिए Ocean Engineering एक बेहतर विकल्प है। कुछ लोग किसी वजह से नेवी में नहीं जा पाते है, अगर आपके साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ है, तो आपको Ocean Engineering में अपना करियर बनाना चाहिए।

7. Sports Technology Engineering

Sports Technology Engineering भी एक बेहतर विकल्प है, अपने करियर को एक उच्च स्तर पर ले जाने के लिए। इसके अंतर्गत आपको खेल में उपयोग होने वाले उपकरण के बारे में पढ़ाया जाता है। अगर आपको खेल पसंद है, तो आपको Sports Technology Engineering की पढ़ाई करके अपने भविष्य को आगे बढ़ाना चाहिए।

कम्प्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग करने के बाद किस क्षेत्र में जॉब मिलती है

कम्प्यूटर साइंस के अंतर्गत बहुत सारे क्षेत्र आते है, जो निचे दिए गए है। अगर आप अपनी इंजीनियरिंग कम्प्यूटर साइंस से करते है, तो आपको निचे दिए गए कुछ क्षेत्रों में जॉब मिल जाती है –

1. Software Developers

सॉफ़्टवेयर डेवलपर का कार्य आमतौर पर Software बनाना होता है, जैसा की इसके नाम से ही पता चल रहा है। इनका कार्य किसी भी सॉफ्टवेयर को Software Develope करके उसका पूरी तरह से परिक्षण करना होता है। इसके अलावा अगर किसी सॉफ्टवेयर में कोई समस्यां आती है, तो उसको ठीक करने के लिए भी सॉफ्टवेयर डेवलपर की आवश्यकता होती है।

2. Computer Systems Analyst

Computer Systems Analyst का कार्य होता है, कंप्यूटर का Analysis करना है। उन्हें बताना होता है, की कंपनी को और ज्यादा बेहतर करने के लिए कंप्यूटर के किस हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में बदलाब करने चाहिए। क्योकिं कंपनी में कार्य करने वाले कर्मचारियों को अच्छे सिस्टम की आवश्यकता होती है। इसके लिए Computer Systems Analyst की आवश्यकता होती है।

3. Programming Language

प्रोग्रामिंग भाषाओँ के अंतर्गत Python, Java, JavaScript, PHP, CSS के अलावा भी कई सारी भाषाएँ आती है। इसके अंतर्गत आप किसी भी Language को सीख सकते है। इन सभी भाषाओं का उपयोग वेबसाइट, एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर आदि बनाना के लिए किया जाता है।

4. Database Administrator

Database Administrator का कार्य होता है, उपयोगकर्ता के Data का Analysis और Evaluation करना। यह सभी महत्वपूर्ण Data को इकठ्ठा करके उसे फिर प्राप्त करने वाले Data संसाधनों का विकास करके सुधार करते है।

6. Information Security Analyst

Information Security Analyst की मुख्य कार्य वेबसाइट को साइबर हमले से बचने का होता है। यह वेबसाइट के लिए इस तरह के सिस्टम बनाते है, जो की उन्हें साइबर सिक्योर कर देते है। अगर कोई व्यक्ति वेबसाइट की नीतियों का उल्लंघन करके आपकी वेबसाइट को हैक करने की कोशिश करता है, तो ऐसे में वह आपकी वेबसाइट को हैक नहीं कर सकता है, क्योकिं Security Analyst आपकी वेबसाइट को सुरक्षित रखते है। इस क्षेत्र में आपको अधिक कौशल की आवश्यकता होती है।

7. IT Project Manager

IT Project Manager के अंतर्गत किसी भी कंपनी के अंतर्गत कार्य कर रहे Programmers, Developers and Analytics की टीम के कर्मचारियों को IT Project Manager के अंतर्गत रखा जाता है। किसी भी कंपनी का कोई भी IT Project सामान्य के मैनेजर को दे दिया जाता है।

इंजीनियर कैसे बने | इंजीनियर बनने के लिए कैसे करें तैयारी

अगर आप एक इंजीनियर बनांना चाहते है, तो आपको निचे दिए गए सभी बिंदुओं, को ध्यानपूर्वक पढ़ना चाहिए –

1. महत्वपूर्ण विषय पर शुरू से ही ध्यान दें

इंजीनियरिंग की तैयारी के लिए आपको 10वीं और 12वीं कक्षाओं में रसायन विज्ञान, भौतिकी, और गणित के विषयों को शुरू से ही अच्छी तरह से समझना चाहिए। क्योकिं पूरी इंजीनियरिंग इन विषयों पर आधारित है। अगर आप PCM में अच्छे अंक है, तो आपको किसी भी अच्छे Collage में आसानी से दिखिला मिल जाता है।

2. कुछ चीजे खुद से करके देखें

जब आप 10वीं और 12वीं में होते है, तो विज्ञान की किताबो में बहुत से उपकरण के ऊपर कार्य करने के लिए बताया जाता है। तो आप किताब के सहारे कुछ उपकरणों को ठीक करने की कोशिश करते रहे। इससे आपकी रूचि और ज्यादा बढ़ जाएगी। आप अपने खुद के कंप्यूटर में आयी हुई कमियों को को दूर करें।

3. इंजीनियरिंग करने के लिए हमेशा अपने पसंदीदा क्षेत्र को चुने

अगर आपको इंजीनियरिंग करनी है, तो आपको अपनी रूचि के अनुसार आगे बढ़ना चाहिए। जिस क्षेत्र में आपको पढ़ने और कार्य करने में मजा आता है, हमेशा उसी सब्जेक्ट को लेकर आगे बढ़ें। ऊपर आपको बहुत सारे इंजीनियरिंग के क्षेत्र बताएं गए है। अगर आपको इंटरनेट की दुनिया में अपना करियर बनाना है, और आपको वेबसाइट बनाना पसंद है, या और भी कुछ तो ऐसे में आप Digital Marketing का विकल्प भी चुन सकते है।

Best Engineering Colleges in India

यहाँ पर आपको भारत के सबसे अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज की लिस्ट दी गयी है। इन कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आपके 10th और 12th में अच्छे नंबर आना बहुत जरुरी है। अगर आपके अच्छे नंबर है, तो आप आसानी से इन कॉलेज में एडमिशन ले सकते है –

  • Indian Institute of Technology, Delhi
  • Indian Institute of Technology, Kharagpur
  • Indian of Chemical Technology, Mumbai
  • Indian Institute of Technology, Kanpur
  • Indian Institute of Technology, Roorkee
  • Indian Institute of Technology, Madras
  • Indian Institute of Technology, Guwahati
  • Indian Institute of Technology, Bombay

इंजिनियर कैसे बने पूरी जानकारी –

  • सबसे पहले आप भौतिकी, रसायन विज्ञान, गणित (PCM) विषय से 12th पास करें।
  • इंजीनियरिंग में एडमिशन लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करें।
  • एग्जाम की तारीख आने पर एंट्रेंस एग्जाम देने जाएँ।
  • अच्छे कॉलेज में एडमिशन पाने के लिए हाई रैंक लाएं।
  • कॉलेज में एडमिशन हो जाने के बाद आपको 4 साल की पढाई करनी होगी।
  • 4 साल की पढाई पूरी करने के बाद आप इंजिनियर बन जायेंगे।
  • अगर आप और आगे जाना चाहते है, तो आप M.Tech, और पीएचडी भी कर सकते है।

Note – यह लेख Engineer कैसे बने (Engineer Kaise Bane in Hindi) पर आधारित था। जिसमे इंजीनियरिंग से सम्बंधित सभी प्रकार की महत्वपूर्ण जानकारी आपके साथ साझा की गयी है। अगर आपका इस लेख से सम्ब्नधित कोई भी सवाल है, तो आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं। अगर आपको यह लेख Engineer कैसे बने अच्छा लगा, तो कृपया इस लेख को अपने किसी भी एक दोस्त के साथ जरूर शेयर करें, धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here